Home /News /uttar-pradesh /

district hospital electricity cut for 5 hours 2 patients died due to stoppage of oxygen supply

रायबरेली: पहली बारिश में ही जिला अस्पताल की बिजली 5 घंटे रही गुल, ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से 2 मरीजों की मौत

बिजली गुल होने से इमरजेंसी में मोबाइल की रोशनी में यहां मरीजों के ऑपरेशन किए गए.

बिजली गुल होने से इमरजेंसी में मोबाइल की रोशनी में यहां मरीजों के ऑपरेशन किए गए.

अस्पताल के बेड पर मृत पड़े पिता के शव पर बिलखते हुए एक शख्स ने आरोप लगाया कि बिजली जाने से ऑक्सीजन बंद हो गई और इससे उसके पिता की मौत हो गई. इतना ही नहीं, पांच घंटे तक बिजली न आने से यहां मरीज़ों का ऑपरेशन तक मोबाइल की रोशनी में हुआ.

अधिक पढ़ें ...

रायबरेली. उत्तर प्रदेश के रायबरेली में बीती रात हुई मानसून की पहली बारिश ज़िला अस्पताल में भर्ती मरीजों के लिए काल बन गई. इस कारण अस्पताल में बिजली गुल होने से ऑक्सीजन सप्लाई कथित रूप से बाधित हो गई और इसके चलते दो मरीजों ने दम तोड़ दिया. इसे लेकर मरीज के परिजन काफी आक्रोशित दिखे.

अस्पताल के बेड पर मृत पड़े पिता के शव पर बिलखते हुए शख्स ने आरोप लगाया कि बिजली जाने से ऑक्सीजन बंद हो गई और इससे उसके पिता की मौत हो गई. इतना ही नहीं, पांच घंटे तक बिजली न आने से यहां मरीज़ों का ऑपरेशन तक मोबाइल की रोशनी में हुआ.

दरअसल बीती रात करीब सात बजे हल्की बूंदाबांदी शुरू होने के साथ ही जिला अस्पताल की बिजली गुल हो गई. भीषण गर्मी के बावजूद अस्पताल प्रशासन जनरेटर न चलाकर बिजली आने का इंतज़ार करते रहे. वहीं घंटों बिजली न आने से ऑक्सीजन सप्लाई भी कथित रूप से बंद हो गई. मरीज के साथ आए तीमारदारों की शिकायत है कि घंटों बिजली गायब रहने पर भी जिला अस्पताल प्रशासन ने कोई वैकल्पिक प्रबंध नहीं किए.

उधर पांच घंटे तक बिजली न आने से बेहाल तीमारदार हाथ का पंखा झलते रहे. बिजली गुल होने से इमरजेंसी में ऑपरेशन के लिए मोबाइल की रोशनी के इस्तेमाल की भी शर्मनाक तस्वीरें सामने आई हैं. वहीं रायबरेली की जिलाधिकारी ने इन खबरों का संज्ञान लेते हुए पूरे मामले की जांच के लिए सीएमओ को मौके पर रवाना कर दिया है.

Tags: Electricity, Government Hospital, Raebareli News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर