रायबरेली: अस्पताल में मलबे के बीच हो रहा मरीजों का एक्सरे

नई मशीनें लगवाने के लिए हो रही तोड़फोड़ से जमा मलबा साथ के साथ हटाया नहीं जा रहा और उसी मलबे के बीच पुरानी मशीन पर एक्सरे जांच की जा रही है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: September 25, 2018, 3:34 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: September 25, 2018, 3:34 PM IST
बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं के दावों की पोल खुल जाती है अगर सरकारी अस्पतालों का रुख किया जाए. रायबरेली जिला अस्पताल के हाल विशेषकर बेहाल हैं, जहां अस्पताल में मलबा पड़ा हुआ है और वहीं पर ओपीडी में आने वाले मरीजों के साथ-साथ गंभीर हालत में आए मरीजों का भी एक्सरे किया जा रहा है. इधर अस्पताल प्रशासन इसपर सफाई के अलावा कुछ दे नहीं पा रहा.

हाल ही में पूरे जोर-शोर से आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की गई. हर वर्ग को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की बात हुई लेकिन रायबरेली जिला अस्पताल में घुसते ही कलई खुल जाती है. यहां साफ-सफाई को ताक पर रखकर ओपीडी मरीजों के साथ-साथ गंभीर भर्ती मरीजों का एक्सरे मलबे के बीच किया जा रहा है. मामला कुछ यूं है कि अस्पताल में मरीजों को बेहतर एक्सरे सुविधा देने के लिए डिजिटल एक्सरे मशीन लगाई जा रही है. इस वजह से विभाग में मरम्मत का काम चल रहा है.



हालांकि नई मशीनें लगवाने के लिए हो रही तोड़फोड़ से जमा मलबा साथ के साथ हटाया नहीं जा रहा और उसी मलबे के बीच पुरानी मशीन पर एक्सरे जांच की जा रही है. अस्पताल में रोजाना सैकड़ों मरीजों का एक्सरे किया जाता है. ऐसे में मलबे के बीच जांच होने से किसी संक्रमण या दुर्घटना की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता.

दूसरी ओर जिला अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक बचाव में कहते हैं कि निर्माण कार्य चल रहा है और हम तयशुदा मानकों के हिसाब से डिजिटल एक्सरे मशीन लगवा रहे हैं जिसके चलते मलबा एक जगह इकठ्ठा है. हालांकि इसे हटवाया क्यों नहीं जा रहा और जांच वहीं क्यों हो रही है, इसका कोई जवाब वे नहीं दे पाते. (रिपोर्ट- मोहन कृष्ण)

ये भी पढ़ें-

NCC कैंप में जहरीला खाना खाने से 30 से ज्यादा छात्र बीमार, अस्पताल में भर्ती

बैंक अकाउंट से कटे लेकिन ATM से नहीं निकले पैसे, तो ऐसे पाएं वापस 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...