Raebareli News: डीएम को धमकाने वाला नटवरलाल गिरफ्तार, खुद को बता रहा था एडवोकेट जनरल

पुलिस के काउंटर में नटवरलाल की पोल खुल गई.

पुलिस के काउंटर में नटवरलाल की पोल खुल गई.

रायबरेली (Raebareli) के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव (DM Vaibhav Srivastava) को उनके चैंबर में धमकाने वाले नटवरलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

  • Share this:

रायबरेली. उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के प्रभार वाले जिले रायबरेली (Raebareli) के जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव (DM Vaibhav Srivastava) को धमकाने वाले एक आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. आरोपी खुद को एडवोकेट जनरल बताकर डीएम से अवैधानिक काम करने का दबाव बना रहा था. इस पर डीएम को उस पर शक हुआ तो पुलिस को बुलाकर उन्होंने नटवरलाल को पुलिस के हवाले किया. बता दें कि तीन दिन पूर्व पुलिस ने मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का ओएसडी बनकर एसपी को धमकाने वाले एक जालसाज डॉक्टर को भी गिरफ्तार किया था.

एडीएम प्रशासन राम अभिलाष ने जानकारी देते हुए बताया कि महाराजगंज के राघवपुर निवासी विजय कुमार पुत्र राम दयाल तालाब का आवंटन को लेकर एप्लीकेशन देने आए थे. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि आवंटन पर जो पेड़ लगे हुए हैं उसको काटने और तालाब की खुदाई की अनुमति दी जाए. एप्लीकेशन देने के पहले वो अपने आपको आरके सिंह उच्च न्यायालय लखनऊ का महाधिवक्ता बता रहे थे. जब उनसे काउंटर किया गया तो कभी उन्‍होंने कहा कि वह अपने महाधिवक्ता का ड्राइवर और कभी कहा उनके साथ रहता है. संदेह होने पर कोतवाली नगर के प्रभारी को बुलाकर उसे पुलिस को पूछताछ के लिए दिया गया. पुलिस से कहा गया है जांच कर इसमें कार्यवाही करें.

यह भी पढ़ें- आप सांसद संजय सिंह के खिलाफ MP-MLA कोर्ट ने जारी किया गैर जमानती वारंट, जानें पूरा मामला

इसके अलावा एडीएम प्रशासन राम अभिलाष ने ये भी कहा कि अभी तीन दिन पहले एसपी ने भी ऐसे ही जालसाज को जेल भेजा था. अब लोग कैसे इस तरह की हिम्मत कर रहे इस पर जरूर सोचना है, इस पर लगाम लगेगा. इस मामले पर कलेक्ट्रेट के नाजिर ने शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज करने के लिए तहरीर दी है.
आपको बता दें कि तीन दिन पहले उत्तर प्रदेश के रायबरेली में कोतवाली पुलिस, एसओजी और सर्विलांस टीम ने मुख्यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का सलाहकार बनकर एसपी श्लोक कुमार को फोन करने वाले एक डॉक्टर को गिरफ्तार किया था. जबकि पकड़े गए आरोपी का एक साथी फरार है, जिस पर पुलिस ने 25 हजार का इनाम घोषित किया है. दरअसल आरोपी एसपी श्लोक कुमार को धमकाने व उनके लैंडलाइन नंबर पर एक पति-पत्नी विवाद मामले को लेकर अनुचित दबाव बनाने को लेकर रौब गांठ रहा था, लेकिन उसे ऐसा करना भारी पड़ गया. पुलिस ने न सिर्फ आरोपी को गिरफ्तार किया बल्कि न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत कर जेल भेज दिया है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज