रायबरेली सदर से एक जमाने तक अपना झंडा बुलंद रखने वाले अखिलेश सिंह का निधन

लखनऊ के पीजीआई से उनका पार्थिव शरीर रायबरेली स्थित पैतृक गांव लालूपुर पहुंचेगा.

Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2019, 7:36 AM IST
रायबरेली सदर से एक जमाने तक अपना झंडा बुलंद रखने वाले अखिलेश सिंह का निधन
विधायक बेटी अदिति सिंह के साथ अखिलेश सिंह (फाइल फोटो)
Amit Tiwari
Amit Tiwari | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 20, 2019, 7:36 AM IST
रायबरेली सदर (Raebareli) से कई दशकों तक अपना झंडा बुलंद रखने वाले पूर्व कांग्रेसी विधायक अखिलेश सिंह (Akhilesh Singh) का मंगलवार सुबह लखनऊ के पीजीआई (Lucknow PGI) में निधन हो गया. वे लम्बे समय से कैंसर से पीड़ित थे. उनकी विरासती सीट पर उनकी पुत्री अदिति सिंह (Congress MLA Aditi Singh) कांग्रेस से विधायक हैं. अखिलेश सिंह के निधन से जिले में शोक की लहर है. लखनऊ के पीजीआई से उनका पार्थिव शरीर रायबरेली स्थित पैतृक गांव लालूपुर पहुंचेगा.

बता दें अखिलेश सिंह लंबे समय से कैंसर से जूझ रहे थे. उनका इलाज सिंगापुर में भी चल रहा था. वे लखनऊ के पीजीआई में रूटीन चेकअप के लिए आये थे. जहां उनकी तबीयत बिगड़ती गई और मंगलवार सुबह करीब 5 से 6 बजे के करीब उन्होंने अंतिम सांस ली.

रायबरेली सदर से पांच बार रहे विधायक

अखिलेश सिंह की छवि इलाके में एक दबंग नेता की थी. वे रायबरेली सीट से पांच बार विधायक रहे. कांग्रेस से विधायक चुने जाने के बाद भी उनका गांधी परिवार से 36 का आंकड़ा रहा. कई बार निर्दलीय चुने गए और वर्ष 2012 के चुनावों से पहले पीस पार्टी जॉइन की थी. अखिलेश सिंह 13 साल तक कांग्रेस से अलग रहे. इस दौरान वह गांधी परिवार को जमकर कोसते थे. कहा जाता है कि अखिलेश सिंह का खौफ ऐसा था कि कांग्रेसी उनके डर से पोस्टर भी नहीं लगा पाते थे. राहुल और प्रियंका की रैलियों से ज्यादा भीड़ उनकी सभाओं में जुटती थी. कहा ये भी जाता है कि जिस दिन राहुल और प्रियंका की जनसभा होती थी, अखिलेश उसी दिन रैली करते थे.

Akhilesh singh raebareli
2017 में अपनी सियासी विरासत बेटी अदिति को सौंपी


2017 में बेटी को सौंपी विरासत

अखिलेश सिंह का दबदबा और हनक इस सीट पर देखने को मिलती है. वर्ष 2017 के चुनाव में अपनी गिरती सेहत और सियासी विरासत को संजोए रखने के लिए अखिलेश ने अपनी बेटी को कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़वाकर विधानसभा भेजा.
Loading...

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायबरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 7:23 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...