नहीं मिली एंबुलेंस, मरीज को चारपाई पर लेकर अस्पताल पहुंचे परिजन

बताया जा रह है कि डीह के रोखा गांव निवासी सूरज पाल (60) को एक हफ्ते से तेज बुखार आ रहा था. आज सुबह हालत काफी बिगड़ गई.

MOHAN KRISHAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 5:14 PM IST
नहीं मिली एंबुलेंस, मरीज को चारपाई पर लेकर अस्पताल पहुंचे परिजन
चारपाई पर लादकर ले जाते परिजन
MOHAN KRISHAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 31, 2018, 5:14 PM IST
यूपी में ध्वस्त हो चुकी 108 एम्बुलेंस सेवा के चलते मरीज कहीं अपने पिता के कंधों पर दम तोड़ रहे हैं तो कहीं परिजन मरीज को ठेलिया और चारपाई से ढो रहे हैं. ताजा मामला रायबरेली के डीह थाना क्षेत्र का है, जहां एम्स तो खुल गया लेकिन लोगों को एंबुलेंस जैसी बुनियादी सुविधाएं भी नहीं मिल पा रही हैं. जिसके कारण शुक्रवार को परिजन अपने मरीज को चारपाई पर लेकर अस्पताल पहुंचे.

बताया जा रह है कि डीह के रोखा गांव निवासी सूरज पाल (60) को एक हफ्ते से तेज बुखार आ रहा था. आज सुबह हालत काफी बिगड़ गई. सूरज के पुत्र रामकुमार ने बताया कि एंबुलेंस बुलाने के लिए 102 नंबर डायल किया तो कर्मचारियों ने कहा कि एक घंटे तक नहीं पहुंच पाएंगे. इस पर पिता की हालत गंभीर होते देख पड़ोसियों की सहायता से चारपाई को ही बहंगी का रूप दे दिया. बांस के सहारे लोग चारपाई पर सूरज पाल को लादकर गांव से दो किलोमीटर दूर सीएचसी डीह पहुंचे.

अस्पताल में चारपाई पर मरीज को देखते ही हड़कंप मच गया. डॉक्टरों और स्टाफ ने तत्काल सूरज को भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया है. यह कोई पहला मामला सामने नहीं आया है, जब एम्बुलेंस नहीं मिलने से परिजन अपने मरीज को साइकिल और ठेले पर ले जाते दिखे. मामला सामने आने के बाद डीएम ने जांच के आदेश दे दिए है.

ये भी पढ़ें:

शिवपाल की 'बगावत' से एक्टिव हुए मुलायम सिंह यादव, दूसरे दिन भी पहुंचे सपा दफ्तर

UP विधानसभा में 'स्मोकिंग जोन' बनाने के लिए सदन में उठी मांग

जेवर एयरपोर्ट को लगा झटका! जिला प्रशासन और किसानों के बीच नहीं बनी सहमति
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर