सोनिया-प्रियंका के हेलीकॉप्टर को उड़ाने से पायलट ने किया इनकार

मौसम खराबी की वजह से पायलट ने उड़ान से इंकार कर दिया, जिसके बाद सोनिया गांधी और प्रियंका को रायबरेली भूएमऊ गेस्ट हाउस में ही ठहरना पड़ेगा. बुधवार को ही सोनिया और प्रियंका को दिल्ली लौटना था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: June 13, 2019, 7:26 AM IST
सोनिया-प्रियंका के हेलीकॉप्टर को उड़ाने से पायलट ने किया इनकार
पायलट के इनकार के बाद सोनिया-प्रियंका नहीं जा पाएंगी दिल्ली (प्रतिकात्मक फोटो)
News18 Uttar Pradesh
Updated: June 13, 2019, 7:26 AM IST
लोकसभा चुनाव के बाद रायबरेली लोगों का धन्यवाद करने पहुंचीं सोनिया गांधी व प्रियंका गांधी के हेलीकॉप्टर को उड़ाने से पायलट ने इनकार कर दिया. अब सोनिया और प्रियंका को रायबरेली भूएमऊ गेस्ट हाउस में ही ठहरना पड़ेगा. पायलट ने इनकार की वजह खराब मौसम को बताया. बुधवार को ही सोनिया और प्रियंका को दिल्ली लौटना था.

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को यूपी की 80 सीटों में से सिर्फ एक सीट मिली है वो भी रायबरेली. यहां जनता का धन्यवाद करने करने आईं यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने इशारों-इशारों में ही हमला किया. उन्होंने कहा कि वोट के लिए जनता के सामने प्रपंच रचा गया था. साथ ही सोनिया ने कहा कि सत्ता पर काबिज होने के लिए सभी मर्यादाओं को ताक पर रखना देश का सबसे बड़ा दुर्भाग्य है.



रायबरेली में जहां प्रियंका ने लोकसभा चुनाव में निराशाजनक प्रदर्शन की वजह तलाशी, वहीं सोनिया ने रायबरेली सीट पर उन्हें जिताने वाले क्षेत्रीय नेताओं और कार्यकर्ताओं का आभार जताया.

बैठक में कार्यकर्ताओं ने दिखाया गुस्सा

बैठक से पहले ही कांग्रेस के तमाम जिला और शहर अध्यक्षों ने समीक्षा बैठक के इस प्रारूप पर तीखी प्रतिक्रिया देनी शुरू कर दी है. जिला और शहर अध्यक्षों का कहना है कि पूरे चुनाव में उनकी भूमिका शून्य थी. न तो वे प्रत्याशियों के बारे में अपनी राय देने वालों में थे और न ही चुनाव के दौरान तय की जाने वाली रणनीति का हिस्सा. ऐसे में उनसे हार की वजह पूछना बेमानी है. इसमें तो उन लोगों से पूछताछ होनी चाहिए, जिन्होंने टिकट तय कराए, रणनीति बनाई और संगठन को कमजोर रखा.

ये भी पढ़ें: 

रायबरेली में प्रियंका लेंगी हर प्रत्याशी से हार का 'हिसाब'
Loading...

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली करारी हार के बाद पहली बार रायबरेली के दौरे पर प्रियंका

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...