रायबरेली विधायक अदिति सिंह पर उनकी वृद्ध दादी ने लगाया प्रताड़ना का आरोप, DM को लिखा पत्र
Rae-Bareli News in Hindi

रायबरेली विधायक अदिति सिंह पर उनकी वृद्ध दादी ने लगाया प्रताड़ना का आरोप, DM को लिखा पत्र
रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह पर उनकी ही दादी ने गंभीर आरोप लगाया है.

रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह (ML:A Aditi Singh) पर उनकी 85 वर्षीय दादी ने आरोप लगाया है कि वह डरा धमकाकर उन्हें संपत्ति से बेदखल करना चाहती हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 5:49 PM IST
  • Share this:
रायबरेली. उत्तर प्रदेश के रायबरेली में कांग्रेस विधायक अदिति सिंह की वृद्ध दादी के एक लेटर से हड़कंप मच गया है. 85 वर्षीय दादी ने अदिति सिंह और अपनी बहू पर डराने-धमकाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि ये लोग डराकर संपत्ति से बेदखल करने की कोशिश कर रही हैं. उन्होंने बेटे कमलेश और अपने लिए सुरक्षा की गुहार लगाई है.

दरअसल पूर्व विधायक स्वर्गीय अखिलेश सिंह की मां वर्तमान और रायबरेली कांग्रेस सदर सीट से विधायक अदिति सिंह की दादी ने अपनी पोती और अपनी बहू पर धमकाने और जमीन हड़पने का आरोप लगाया है. डीएम, रायबरेली को दिए गए एक चिट्ठी वायरल होने के बाद यह पूरा मामला सामने आया है.

छोटे बेटे कमलेश और अपनी सुरक्षा की लगाई गुहार



85 वर्ष कामला सिंह ने आरोप लगाया है कि विधायक अदिति सिंह ने अपनी मां के साथ उनके घर में घुसकर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया और जमीन हड़पने के इरादे से लगातार उनको परेशान कर रही हैं. विधायक अदिति की ऊंची पहुंच और पकड़ को देखते हुए उन्होंने अपने और छोटे बेटे कमलेश सिंह की सुरक्षा की गुहार लगाई है.
पत्र वायरल होने के बाद रायबरेली में चर्चाएं आम

डीएम को दिए गए पत्र के वायरल होने के बाद रायबरेली में चर्चाएं तेज हैं. लोगों का कहना है कि पूर्व विधायक अखिलेश सिंह के ऊपर कभी भी इस तरीके से पारिवारिक आरोप नहीं लगे. परिवार को एकजुट रखने के लिए उन्होंने अपने सामने ही संपत्तियों का बंटवारा कर दिया था. फिलहाल अदिति सिंह की दादी के पत्र वायरल होने के बाद साफ हो रहा है कि परिवार में सब कुछ सही नहीं चल रहा है. संपत्तियों को लेकर तलवारें खिंची हुई हैं.

राजस्व टीम और पुलिस कर रही पत्र की जांच: अपर पुलिस अधीक्षक

वायरल पत्र के मामले में अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानंद राय ने बताया कि एक पत्र शिकायती पत्र मिला है, जिसको राजस्व टीम और पुलिस द्वारा जांच कर उचित कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज