लाइव टीवी

रायबरेलीः 6 साल की दलित बच्ची के दुष्कर्मी को उम्र कैद, कोर्ट ने 20 दिनों में सुनाया फैसला

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 16, 2019, 8:45 PM IST
रायबरेलीः 6 साल की दलित बच्ची के दुष्कर्मी को उम्र कैद, कोर्ट ने 20 दिनों में सुनाया फैसला
रायबरेली में 6 साल की बच्ची से दुष्कर्म के आरोपी को मिली उम्र कैद की सजा. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

रायबरेली (Raebareli) के हरचंदपुर थाना क्षेत्र में एक महीने पहले हुई दलित बच्ची से दुष्कर्म (Rape) की वारदात में पुलिस और अदालत (POCSO Court) की तत्परता से आरोपी को सजा मिली.

  • Share this:
रायबरेली. कानून की किताबों में लिखा है, "देर से मिला न्याय अन्याय के समान है". बुधवार को रायबरेली (Raebareli) पुलिस और यहां की पॉक्सो कोर्ट (POCSO Court) ने इस मिसाल को झुठला दिया. अदालत ने 6 साल की मासूम दलित बच्ची को न्याय दिलाया और उसके साथ दुष्कर्म करने वाले (Rape accused) को उम्र कैद (life imprisonment) की सजा सुनाई. साथ ही 22 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया. कोर्ट का यह फैसला इसलिए भी महत्वपूर्ण है, क्योंकि पुलिस के चार्जशीट दाखिल करने के सिर्फ 20 दिनों के भीतर ही यह फैसला आया है.

एक माह पहले की घटना
रायबरेली जिले के हरचंदपुर थाना क्षेत्र में एक माह पहले 6 साल की दलित बच्ची के साथ दुराचार की घटना हुई थी. बुधवार को पॉक्सो कोर्ट के विशेष न्यायाधीश विजय पाल की अदालत में इस मामले की सुनवाई हुई. मामले में अभियोजन पक्ष के वकील एडीजीसी (क्रिमिनल) दिनेश श्रीवास्तव ने सुनवाई के दौरान घटना की विस्तार से जानकारी दी. उन्होंने बताया कि बीते 17 सितंबर को वादी की छह साल की बेटी जब घर में अकेली थी. उस दौरान अभियुक्त राममिलन लोध उर्फ पुल्ली ने मासूम बच्ची के साथ दुष्कर्म की वारदात को अंजाम दिया था.

तत्परता से हुई जांच

पॉक्सो कोर्ट में सुनवाई के दौरान वकील ने बताया कि दुष्कर्म की वारदात की रिपोर्ट पीड़िता के पिता ने हरचंदपुर थाने में दर्ज कराई थी. पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद गंभीरता से इसकी पड़ताल की और जल्द से जल्द जांच का काम पूरा किया. एक महीने के भीतर ही पुलिस ने पूरी पड़ताल के आरोपी राममिलन लोध उर्फ पुल्ली के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी. पॉक्सो अदालत के विशेष जज ने दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अभियुक्त को सजा सुनाई. कोर्ट ने उस पर जुर्माना भी लगाया, साथ ही जुर्माने में से 12 हजार रुपए पीड़िता के परिवार को देने का आदेश भी दिया.

(मोहन कृष्ण की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - 
Loading...

अयोध्या जमीन विवाद: सुप्रीम कोर्ट में 40 दिन चली ऐतिहासिक बहस खत्म, 23 दिन में फैसले की उम्मीद

राम मंदिर का नक्शा फाड़ने पर राजीव धवन से बोले CJI- अब आप कह सकते हैं मेरे कहने पर फाड़ा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायबरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 16, 2019, 8:17 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...