अपना शहर चुनें

States

रायबरेली डीएम का फरमान- गांव में पराली जली तो सीज होंगे प्रधानों के वित्तीय अधिकार, लगाई और कई शर्तें

पराली की आग (फाइल फोटो)
पराली की आग (फाइल फोटो)

Pollution Control: जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने सभी प्रधानों को अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने प्रधानों और लेखपालों को निर्देश दिया कि किसानों को पराली न जलाने के लिए जागरूक करें. साथ ही यह भी बताए कि पराली जलाने से क्या-क्या नुकसान होते है.

  • Share this:
रायबरेली. सरकार किसानों (Farmers) की आय बढ़ाने के भले ही बड़े-बड़े दावे कर रही हो, लेकिन उसके कुछ फैसले किसानों के लिए मुसीबत बने हुए है. ताजा मामला किसानों की पराली (Straw) जलाने से जुड़ा है, जिसमे पहले से एफआईआर और जुर्माना लगाने का प्रावधान है और अब एक कदम आगे बढ़ते हुए डीएम रायबरेली (DM Raebareli) ने जलने वाली पराली की जिम्मेदारी प्रधानों की तय की है. अगर उनकी ग्राम पंचायत में पराली जली और प्रधान ने मामले को दबाने की कोशिश की तो उनके बस्ते जब्त कर दिए जाएंगे. डीएम के इस फरमान से प्रधानों में हड़कंप मचा हुआ है, क्योंकि इस आदेश से आगामी पंचायत चुनाव में प्रधानों की सहभागिता प्रभावित हो सकती है.

किसानों को जागरूक करने के निर्देश
जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव ने सभी प्रधानों को अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने प्रधानों और लेखपालों को निर्देश दिया कि किसानों को पराली न जलाने के लिए जागरूक करें. साथ ही यह भी बताए कि पराली जलाने से क्या क्या नुकसान होते है. इसके साथ ही डीएम ने लेखपालों को निर्देश दिए कि वह किसानों को जागरूक करें कि पराली जलाने से वायु प्रदूषण बढ़ता है. इसके साथ ही मिट्टी की गुणवत्ता भी प्रभावित होती है. साथ ही एनजीटी ने इसे दंडनीय अपराध माना है. डीएम वैभव श्रीवास्तव ने कहा कि पराली जलाने के मामले में अगर प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से कहीं पर भी यह तथ्य सामने आए कि पराली जलाने में किसान और प्रधान शामिल है तो ऐसे में प्रधानों के वित्तीय अधिकार सीज कर दिए जाएंगे और पंचायत चुनाव लड़ने के लिए नो ड्यूज और चरित्र प्रमाण पत्र जारी नही किया जाएगा. अगर पूर्व में हैसियत प्रमाण पत्र जारी है तो उसे भी निरस्त कर दिया जाएगा.

शस्त्र लाइसेंस भी होगा रद्द
डीपीआरओ उपेंद्र राज ने बताया कि डीएम का पत्र प्राप्त हुआ है, जिसमे पराली जलाने से रोकने के लिए किसानों के साथ-साथ प्रधानों की भी जिम्मेदारी तय की गई है. अगर कोई प्रधान पराली जलाने के तथ्य छुपाने की कोशिश करता है तो उसके वित्तीय अधिकार सीज करने के साथ अगर उसके पास शस्त्र है तो उसका लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज