अपना शहर चुनें

States

BJP के पूर्व विधायक ने बार-बालाओं के साथ लगाए ठुमके, मंदिर निर्माण के लिए दे चुके हैं 1 करोड़ का चंदा

बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह का बार-बालाओं के साथ ठुमके लगाते हुए एक वीडियो वायरल हो रहा है.
बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह का बार-बालाओं के साथ ठुमके लगाते हुए एक वीडियो वायरल हो रहा है.

Surendra Bahadur Singh viral video: बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह का बार-बालाओं के साथ ठुमके लगाते हुए एक वीडियो वायरल हो रहा है. सिंह राममंदिर निर्माण के लिए एक करोड़ ग्यारह लाख ग्यारह हजार ग्यारह सौ रुपये का दान देकर सुर्खियों में आए थे. सुरेंद्र बहादुर सिंह रायबरेली जिले की सरेनी सीट से विधायक रह चुके हैं.

  • Share this:
रायबरेली. 15 जनवरी को राम मंदिर ट्रस्ट में एक करोड़, 11 लाख, 11 हजार, 11 सौ रुपये का चेक राममंदिर ट्रस्ट के सचिव चंपत राय को सौंपकर सुर्खियों में बीजेपी के पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह
(Surendra Bahadur Singh) का एक वीडियो वायरल हो रहा है. इस वीडियो में पूर्व विधायक बार-बालाओं के साथ ठुमके लगाते नजर आ रहे हैं. सुरेंद्र बहादुर सिंह रायबरेली जिले की सरेनी सीट से विधायक रह चुके हैं.

जानकारी के अनुसार वायरल वीडियो एक कर्ण छेदन प्रोग्राम का बताया जा रहा है. इस कार्यक्रम में पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह भी शामिल हुए थे. जब वो यहां पहुंचे तो बार-बालाओं की डांस पार्टी चल रही थी. लोगों ने पूर्व विधायक को भी मंच पर चलकर ठुमके लगाने के लिए कहा. इस पर कुछ देर बाद वो मंच पर पहुंच गए और ठुमके लगाने लगे. तब तक वहां मौजूद किसी व्यक्ति ने मोबाइल से उनका वीडियो शूटकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया. बस फिर क्या था उम्र के एक पड़ाव पर पहुंचने के बाद पूर्व विधायक के नृत्य करने वाले चरित्र पर चारों ओर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है.

बता दें कि पूर्व विधायक सुरेंद्र बहादुर सिंह लालगंज के तेज गांव के रहने वाले हैं. गत 15 जनवरी को उन्होंने राममंदिर निर्माण के लिए राममंदिर निर्माण ट्रस्ट के सचिव चंपत राय के एक करोड़, 11 लाख, 11 हजार, 11 सौ रुपये दान में दिए थे. इस मौके पर उन्होंने कहा था, ''मैं जीवन में बहुत कुछ करना चाहता हूं इसलिए मैं जीना चाहता हूं. राममंदिर के लिए दान करना एक अलग सोच है और इतना बड़ा दान करना एक अलग सोच है. राम में हमारी आस्था है और राममंदिर निर्माण के लिए सैकड़ों वर्षों से लड़ाई लड़ी गई, मुकदमा चलता रहा अंत में आकर के फैसला आया राममंदिर के पक्ष में. अब राममंदिर उस स्थान पर बनेगा जहां पहले था. इसी के लिए हम दान देने जा रहे हैं.'
उन्होंने यह भी कहा था, 'अगर छोटा-मोटा दान देने तो इतना बड़ा कार्यक्रम नहीं करते, उस धनराशि के सम्मान रखने के हिसाब से कार्यक्रम हो रहा है. राममंदिर बड़ी चीज है इतिहास उसका गवाह होगा, वो इतना बड़ा है कि एक करोड़ रुपये उसके लिए कुछ नहीं है. हमने ये सुना कि उत्तर प्रदेश मे अब तक 1 करोड़ रुपये का दान दिया गया है, हमने इसलिए उसमें 11 लाख 11 हजार और बढ़ाकर दान दिया ताकि दान देने का भी मजा आए.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज