रायबरेली के L-2 हास्पिटल का ये कैसा हाल: नग्न अवस्था में वार्ड के बाहर फर्श पर पड़ी रही महिला

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का रायबरेली जिला डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के प्रभार में है. सोनिया गांधी यहां से सांसद हैं, लेकिन इतने बड़े-बड़े नेताओं के प्रतिनिधित्व के बावजूद यहां के कोविड हास्पिटल की स्थित भयावह है.

  • Share this:
रायबरेली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का रायबरेली जिला डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के प्रभार में है. सोनिया गांधी यहां से सांसद हैं, लेकिन इतने बड़े-बड़े नेताओं के प्रतिनिधित्व के बावजूद यहां के कोविड हास्पिटल की स्थित भयावह है. अब रेल कोच फैक्ट्री कैंपस में बने L-2 हास्पिटल का जो वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है, उससे यहां के हालात का अंदाजा लगाया जा सकता है. इस वायरल वीडियो ने सिस्टम की सारी पोल को जहां खोलकर रख दिया है, वहीं मानवता भी शर्मसार हो गई है.

वीवीआईपी जिले में बने एल- टू लेवल के इस हास्पिटल में बदइंतजामी का आलम वायरल वीडियो में साफ देखने को मिला. एक महिला नग्न अवस्था में जमीन पर पड़ी कराह रही है और कोई उसकी सुध लेने वाला नही है. यहां इलाज के लिये भर्ती मरीज तड़प रहे हैं और कोई डॉक्टर उनके पास तक नहीं फटक रहा है. अस्पताल में नियुक्त सफाई कर्मचारी की लापरवाही से पूरे अस्पताल परिसर में कूड़े का अंबार फैला हुआ है. पानी पीने की कोई व्यवस्था नहीं है और भीषण गर्मी में मरीज इधर-उधर भटक रहे हैं. भर्ती मरीजों का कहना है कि अस्पताल में नियुक्त डॉक्टर अपने कमरे से बाहर ही नहीं जाते. वार्डो में तड़प रहे मरीजों को देखने की डॉक्टरों को फुरसत ही नहीं है.

अस्पताल में भर्ती एक मरीज के परिजन का कहना है ज्यादातर मरीजों को दर्द और सांस लेने में दिक्कतें हैं, लेकिन न कोई दवा देने वाला है और न ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने वाला. सोशल मीडिया पर अस्पताल की दुर्दशा बयान करता वीडियो वायरल होने के बाद से हड़कंप मचा हुआ है. अस्पताल प्रभारी डॉ. मनोज शुक्ला ने बताया कि अस्पताल में 102 मरीज भर्ती हैं, जिनमें 37 गंभीर हैं. इनमें 21 मरीज ऑक्सीजन सपोर्ट सिस्टम पर हैं. हालांकि व्यवस्था पर वो खुलकर कुछ भी कहने से बचते रहे.

गुरुवार को 12 की हुई थी मौत, 9 इसी हास्पिटल में थे भर्ती
आपको बता दें कि गुरुवार को जिले में कोरोना से एक दिन में हुईं मौतें के सारे रिकॉर्ड टूट गए थे. बीते 24 घंटे में 12 संक्रमित मरीजों ने दम तोड़ दिया, जबकि 281 लोग पॉजिटिव पाए गए हैं. मरने वालों में पांच लोग शहर के निवासी थे. जबकि लालगंज के दो, सलोन, महराजगंज, हरचंदपुर व सतांव में एक-एक मरीज की मौत हुई है. दम तोड़ने वाले 12 लोगों में से 9 रेलकोच कारखाने के इसी एल-2 अस्पताल में भर्ती थे. जिसकी बदहाली का वीडियो वायरल हुआ है. जबकि तीन का इलाज जिला अस्पताल में बने कोविड वार्ड में चल रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज