'रूठों' को मनाने और 'गढ़' मजबूत करने डेढ़ साल बाद रायबरेली में होंगीं सोनिया गांधी

माना जा रहा है कि अपने दो दिन के दौरे में सोनिया गांधी पार्टी से नाराज चल रहे नेताओं से मुलाकात करेंगीं, साथ ही विकास कार्यों को लेकर गहन समीक्षा भी करेंगीं.

MOHAN KRISHAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 16, 2018, 4:43 PM IST
'रूठों' को मनाने और 'गढ़' मजबूत करने डेढ़ साल बाद रायबरेली में होंगीं सोनिया गांधी
sonia gandhi, rahul gandhi
MOHAN KRISHAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: April 16, 2018, 4:43 PM IST
कांग्रेस अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद से पहली बार रायबरेली की सांसद सोनिया गांधी मंगलवार 17 अप्रैल की शाम को अपने संसदीय क्षेत्र पहुंच रही हैं. सोनिया गांधी के इस दौरे से रायबरेली की सियासत में हलचल देखी जा रही है. माना जा रहा है कि अपने दो दिन के दौरे में सोनिया गांधी पार्टी से नाराज चल रहे नेताओं से मुलाकात करेंगीं, साथ ही विकास कार्यों को लेकर गहन समीक्षा भी करेंगीं. रायबरेली में सोनिया के दौरे को लेकर कयासबाजियों के दौर शुरू हो गए हैं. वैसे दौरे के समय सोनिया के साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी उपस्थित रहेंगे.

वैसे ये डेढ़ दशक में पहला मौका है जब सोनिया गांधी सिर्फ एक सांसद के रूप में दो दिवसीय दौरे पर रायबरेली पहुंच रही हैं. यहां उन्हें भुएमऊ गेस्ट हाउस से शाम को 6 बजे आईएमए भवन का उद्घाटन करना है. उसके बाद सोनिया गांधी आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर जिला कांग्रेस कमेटी के सदस्यों के साथ बैठक करेंगी.

दौरे के दूसरे दिन सांसद सोनिया गांधी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भुएमऊ गेस्ट हाउस में जनता से रूबरू होंगे. गेस्ट हॉउस में ही करोड़ों की लागत से हुए विकास कार्यो का उद्घाटन करेंगे. इसके बाद मुख्य डाक घर में बने पासपोर्ट सेवा केंद्र का उद्घाटन करेंगे. 11 बजे बचत भवन में सोनिया गांधी जिला सतर्कता और अनुश्रवण समिति की बैठक की अध्यक्षता करेंगीं. इसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उपाध्यक्ष के रूप में शिरकत करेंगे.

अध्यक्ष पद छोड़ने के बाद सोनिया गांधी के दो दिवसीय दौरे के राजनैतिक पंडित कई मायने निकाल रहे हैं क्योंकि इस दरम्यान रायबरेली के जिला पंचायत अध्यक्ष अवधेश सिंह ने पार्टी छोड़ने का पत्र जारी कर दिया है. कांग्रेस एमएलसी दिनेश सिंह भी पार्टी से नाराज चल रहे हैं और उनके कांग्रेस छोड़ने की खबरे सोशल मीडिया में लगातार चल रही हैं. इतना ही नहीं राजनैतिक पंडित इस दौरे के बाद सोनिया गांधी को रायबरेली की राजनीति से रिटायर होने का संकेत भी मान रहे हैं.

ये देखने वाली बात होगी कि अगर ऐसा होता है तो सोनिया गांधी अपनी संसदीय विरासत किसे सौंपेंगीं. रायबरेली के कांग्रेसी यह मान रहे है कि प्रियंका गांधी वाड्रा संगठन की कमान संभाल रही हैं इसलिए आने वाले समय में सोनिया गांधी रायबरेली की कमान प्रियंका गांधी वाड्रा को सौंप सकती हैं.
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Uttar Pradesh News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर