यूपी के अस्पतालों में अब मरीजों के साथ 'पानी' का होगा इलाज

उत्तर प्रदेश में कुल 174 जिला अस्पताल हैं, जिसमें सिर्फ 1 दिन में करीब 21 लाख से ज्यादा मरीज देखे जाते हैं.

Alauddin Ayub | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 9:10 PM IST
यूपी के अस्पतालों में अब मरीजों के साथ 'पानी' का होगा इलाज
अस्पतालों में जल संरक्षण के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग की योजना एक साल में पूरी होगी. (फाइल फोटो)
Alauddin Ayub | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 8, 2019, 9:10 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरणा लेते हुए उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्रदेश के सभी अस्पतालों में जल संरक्षण के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग का प्रबंधन किए जाने का निर्देश दिया है. प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी को निर्देश देते हुए सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि इस पूरी योजना को समयबद्ध और चरणबद्ध तरीके से पूरा करवाया जाए.

सूबे में हैं 174 जिला अस्‍पताल
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश में कुल 174 जिला अस्पताल हैं, जिसमें सिर्फ 1 दिन में करीब 21 लाख से ज्यादा मरीज देखे जाते हैं. इसके अलावा सूबे में 850 के करीब सीएससी आम जनता के स्वास्थ्य की सेवा कर रही हैं. जबकि 3000 प्राइमरी हेल्थ कम्युनिटी सेंटर भी जनता की सेवा में लगे हुए हैं.

ऐसे चलेगा अभियान

प्रमुख सचिव स्वास्थ्य प्रशांत त्रिवेदी को दिए गए निर्देश में स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने यह भी लिखा है कि एक साल के अंदर इस योजना को उत्तर प्रदेश में पूरा कर लिया जाए. कार्ययोजना में खास तौर से इस बात के दिशा-निर्देश दिए गए हैं कि अस्पतालों में आने वाले मरीजों को भी इस बारे में जागरूक किया जाए कि जल संरक्षण से ही जीवन को ज्यादा बेहतर बनाया जा सकता है. पीएम नरेंद्र मोदी के मिशन को आगे ले जाने की इस पहल में उत्तर प्रदेश जैसे राज्य अगर अपनी भूमिका बेहतर कर पाए तो जल संरक्षण के क्षेत्र में बड़ी क्रांति आएगी.

ये भी पढ़ें-

भारत में पक्षियों की तस्करी का नया रूट बने म्‍यांमार, मिजोरम और केरल, इतने करोड़ का है अवैध कारोबार
Loading...

मेरठ RTO ऑफिस के बाहर रोजाना सजती है दलालों की मंडी, अधिकारी खामोश
First published: July 8, 2019, 7:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...