Assembly Banner 2021

लोकसभा चुनावों में हार के बाद राज बब्बर ने की इस्तीफे की पेशकश

इससे पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपीए की चैयरपर्सन सोनिया गांधी के सामने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की.

इससे पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपीए की चैयरपर्सन सोनिया गांधी के सामने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की.

इससे पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपीए की चैयरपर्सन सोनिया गांधी के सामने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की.

  • Share this:
लोकसभा चुनावों में हार के बाद उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राज बब्बर ने इस्तीफे की पेशकश की है. यूपी के फतेहपुर सीकरी (Fatehpur Sikri) से कांग्रेस के उम्मीदवार राज बब्बर (Raj Babbar) को हार का सामना करना पड़ा. बीजेपी के उम्मीदवार राजकुमार चाहर (Raj Kumar Chahar) ने राज बब्बर पर तीन लाख से ज्यादा वोटों से जीत दर्ज की.

राज बब्बर ने शुक्रवार को ट्वीट किया कि 'जनता का विश्वास हासिल करने के लिए विजेताओं को बधाई. यूपी कांग्रेस के लिए परिणाम निराशाजनक हैं. अपनी ज़िम्मेदारी को सफ़ल तरीके से नहीं निभा पाने के लिए ख़ुद को दोषी पाता हूँ। नेतृत्व से मिलकर अपनी बात रखूंगा.'





इससे पहले लोकसभा चुनाव 2019 में मिली हार के बाद कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपीए की चैयरपर्सन सोनिया गांधी के सामने अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश की. सूत्रों के मुताबिक, राहुल गांधी के इस्तीफे की बात पर सोनिया गांधी और वरिष्ठ के नेताओं ने उन्हें समझाया कि ऐसी बात पार्टी फोरम में रखनी चाहिए.
सूत्रों के मुताबिक, एक हफ्ते में कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक बुलाई जाएगी, जिसमें राहुल इस्तीफे की पेशकश करेंगे. सूत्रों के मुताबिक, बैठक में हार के कारणों पर चर्चा होगी.

ये भी पढ़ें- फतेहपुर सीकरी में खिला 'कमल', राज बब्बर को मिली हार

बता दें कि फतेहपुर सीकरी ने पिछले दो लोकसभा चुनावों में ग्लैमर और हाई प्रोफाइल उम्मीदवारों को नकार दिया था. 2009 में लोकसभा सीट बनने के बाद से ही फतेहपुर सीकरी चर्चा में रही है. 2009 में राज बब्बर यहां ग्लैमर लेकर आए थे. वहीं 2014 में अमर सिंह ने यहां से किस्मत आज़माया, लेकिन दोनों को हार का समना करना पड़ा. इस बार बीजेपी ने जहां अपने मौजूदा सांसद बाबू लाल का टिकट काटकर राजकुमार चाहर को मैदान में उतारा था. वहीं, सपा-बसपा गठबंधन ने बाहुबली नेता गुड्डू पंडित पर दांव लगाया.

ये भी पढ़ें-

जीत के बाद स्मृति ईरानी बोलीं- अमेठी के लिए एक नई सुबह

मोदी लहर में अपनी सीट भी नहीं बचा पाए ये पूर्व मुख्‍यमंत्री

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज