आज़म के ही नक़्शेकदम पर चल रहे हैं बेटे अब्दुल्ला, जानिए क्यों हैं विवादों में?

अब्दुल्ला आज़म ने की है इंजीनियरिंग की पढ़ाई. पहली बार में बने हैं विधायक.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 31, 2019, 5:30 PM IST
आज़म के ही नक़्शेकदम पर चल रहे हैं बेटे अब्दुल्ला, जानिए क्यों हैं विवादों में?
समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आज़म खान के बेटे अब्दुल्ला आज़म को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 31, 2019, 5:30 PM IST
समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता आज़म खान के बेटे अब्दुल्ला आज़म को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. माना जा रहा है कि आज़म खान के खिलाफ हो रही कार्रवाई में ये सबसे बड़ा झटके वाला कदम है. दरअसल पुलिस का आरोप है कि कार्रवाई में बाधा डालने के आरोप में उन्हें हिरासत में लिया गया है. मदरसा आलिया से चोरी हुई किताबों के मामले में आज दूसरे दिन भी पुलिस जौहर यूनिवर्सिटी में छापेमारी कर रही थी. इसी दौरान पुलिस की कार्रवाई में बाधा डालने के आरोप में सीओ सिटी उन्हें अपने साथ ले गए.

फिलहाल पुलिस की टीम जौहर यूनिवर्सिटी में मौजूद है. अब्दुल्ला आजम के खिलाफ पहले से यूपी पुलिस ने धोखाधड़ी करने का मामला दर्ज किया था. पूर्व मंत्री के बेटे की तहरीर पर यह एफआईआर दर्ज की गई है. अब्दुल्ला आजम का पासपोर्ट जब्त करने की मांग की गई है.

इंजीनियरिंग की पढ़ाई
अब्दुल्ला आज़म 2017 में राजनीति में आए. उन्होंने यूपी टेक्निकल यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग में स्नातक किया है और उसके बाद नोएडा की गलगोटिया यूनिवर्सिटी से 2015 में मास्टर ऑफ टेक्नोलॉजी की डिग्री हासिल की है.

पहले ही चुनाव में बड़ी जीत
पढ़ाई पूरी करने के दो साल के भीतर ही यूपी के विधानसभा चुनाव पड़े. रामपुर जिले की स्वार विधानसभा सीट पर अब्दुल्ला आज़म को प्रत्याशी के तौर पर खड़ा किया गया. उनका मुकाबला नवाब काज़िम अली खान उर्फ नवेद मियां से था जो कि पहले से वहां के विधायक थे. उस चुनाव में पूरे प्रदेश में बीजेपी ने एकतरफा बाजी मारी थी. लेकिन पहले ही मुकाबले में अब्दुल्ला आज़म ने नवेद मियां को पटखनी दे दी. ये साधारण जीत नहीं थी क्योंकि स्वार सीट पर नवेद मियां पिछले कई बार से विधायक थे. अब्दुल्ला को 1,01,085 वोट मिले थे. उन्होंने 5 बार के विधायक नवाब काजिम अली खान को 46,842 वोटों से हराया था.

स्वार विधानसभा से पहली बार चुनाव जीते अब्दुल्ला आज़म क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं.
स्वार विधानसभा से पहली बार चुनाव जीते अब्दुल्ला आज़म क्षेत्र में काफी लोकप्रिय हैं.

Loading...

वंशवाद पर तीखे बोल
जीत के बाद एक कार्यक्रम में जब अब्दुल्ला आज़म से वंशवाद पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा था- जब डॉक्टर का बेटा डॉक्ट बनता है तब किसी को दिक्कत नहीं होती तो फिर किसी नेता का बेटा राजनीति में आ जाए तो क्या दिक्कत है? हम सेलेक्ट नहीं इलेक्ट हुए हैं. एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में अब्दुल्ला आज़म ने कहा था कि समाजवादी पार्टी सियासत करती है और बीजेपी तिकड़म.

मुश्किल में आज़म खान
बता दें कि हाल ही में भू-माफिया घोषित होने के बाद आज़म खान को कई झटके लगे. उनके खिलाफ जमीन अतिक्रमण के 27 मामले दर्ज किए गए. दूसरी ओर रामपुर ज़िला प्रशासन ने जौहर ट्रस्ट को लीज पर दी गई 2 बिल्डिंगों- मदरसा आलिया और दारुल अवाम की लीज को निरस्त करने की संस्तुति (सिफारिश) शासन से की. इसके बाद बीजेपी की महिला सांसद पर की गई टिप्‍पणी के लिए भी आजम खान की काफी फजीहत हुई और उन्‍हें अपनी विवादित टिप्‍पणी के लिए लोकसभा में सांसद से माफी मांगनी पड़ी.
ये भी पढ़ें:

'शिकायत करने पर उन्नाव रेप पीड़िता की तरह हमारा भी एक्सीडेंट करा दिया तो?'

प्रियंका के आदेश पर उन्नाव रेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए उपवास कर रहे कांग्रेसी
First published: July 31, 2019, 5:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...