होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

रामपुर में आजम खान एक और केस दर्ज, बेटा अब्दुल्ला ने कहा- जानबूझकर किया जा रहा प्रताड़ित

रामपुर में आजम खान एक और केस दर्ज, बेटा अब्दुल्ला ने कहा- जानबूझकर किया जा रहा प्रताड़ित

आजम खान पर केस दर्ज होने के बाद, उनके पुत्र अब्दुल्ला आजम ने एसपी से मुलाकात की.

आजम खान पर केस दर्ज होने के बाद, उनके पुत्र अब्दुल्ला आजम ने एसपी से मुलाकात की.

Rampur News: अब्दुल्ला आजम ने मिडिया से बात करते हुए कहा कि अगर देश में कानून बचा ही नहीं है, तो हमें बता दें कि हमारा अंजाम क्या है. अब सारे फैसले पुलिस ही कर दे. सारे फैसले भैंस, बकरी और मुर्गी चोरी के मुकदमे दर्ज कराने वालों से ही करा दें. ज्यूडिशियल सिस्टम और किसी चीज का कोई मतलब बचा ही नहीं है. अब्दुल्ला आजम ने कहा कि जब न्याययिक प्रक्रिया में पुलिस लोगों को धमका कर ले जा रही है. फिर क्या मतलब है किसी का?

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

आजम खान समेत अन्य, पर गवाहों को धमकाने का केस दर्ज
आजम खान के बेटे ने एसपी से की मुलाकात

रामपुर: उत्तर प्रदेश के रामपुर में सपा नेता आजम खान समेत कई नामजद आरोपियों के खिलाफ गवाहों को धमकाने का केस दर्ज हुआ है. केस दो अलग अलग थानों में दर्ज कराया गया है. बताया गया कि आजम खान समेत कई अन्य नामजद और अज्ञात लोगों के खिलाफ थाना गंज और शहर कोतवाली थाने में केस दर्ज कराया गया है. आजम खान पर दर्ज मुकदमों को लेकर आजम खान के बेटे अब्दुल्ला आजम ने रामपुर के एसपी अशोक कुमार से मुलाकात की. अब्दुल्ला ने एसपी से मामले की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है. एसपी से मुलाकात के बाद आजम खान ने मीडिया से भी बातचीत की.

जो जिंदगी मौत की लड़ाई लड़ रहा हो वो क्या धमकी देगा?
अब्दुल्ला आजम ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अभी तीन साल पहले एक तमाशा चला था और रामपुर में भैंस चोरी, मुर्गी चोरी, बकरी चोरी के तमाम मुकदमे आजम खान साहब और मेरे परिवार पर दर्ज किए गए थे. उन सभी का ट्रायल रामपुर में चल रहा है. लेकिन अब अचानक खबर आ रही है कि भैंस और बकरी चोरी के एक वादी, उन्होंने यह एफआईआर दर्ज कराई है कि आजम खान साहब चार पांच लोग आए और उन्हें धमकी दी. जो आदमी अभी दस पन्द्रह दिन मेदांता हॉस्पिटल में रहकर आये हों, अभी भी जिन्दगी और मौत की लड़ाई लड़ रहे हों, वो भला किसी को क्या धमकी देंगे? क्या यह मुमकिन है?

अब्दुल्ला का आरोप परिवार को परेशान किया जा रहा
अब्दुल्ला आजम ने मिडिया से बात करते हुए कहा कि अगर देश में कानून बचा ही नहीं है, तो हमें बता दें कि हमारा अंजाम क्या है. अब सारे फैसले पुलिस ही कर दे. सारे फैसले भैंस, बकरी और मुर्गी चोरी के मुकदमे दर्ज कराने वालों से ही करा दें. ज्यूडिशियल सिस्टम और किसी चीज का कोई मतलब बचा ही नहीं है. अब्दुल्ला आजम ने कहा कि जब न्याययिक प्रक्रिया में पुलिस लोगों को धमका कर ले जा रही है. फिर क्या मतलब है किसी का? क्या मतलब है मानवाधिकार का? वैसे ही कह दें कि आपको जेल से नहीं निकलने देना है. अब्दुल्ला आजम ने कहा मेरे परिवार को परेशान किया जा रहा है. पुलिस गलत तरीके से FIR कायम कर रही है.

Tags: Abdullah Azam, Azam Khan, Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Adityanath, Rampur news, Uttarpradesh news

अगली ख़बर