लाइव टीवी

...आखिरकार रो पड़े आज़म खान, कहा- वो डाकू था, मगर तुम्हारे लिए कलम लेकर आया

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 12, 2019, 1:34 PM IST
...आखिरकार रो पड़े आज़म खान, कहा- वो डाकू था, मगर तुम्हारे लिए कलम लेकर आया
सपा सांसद आज़म खान के खिलाफ रामपुर के लोगों की शिकायत पर अब तक 86 मुकदमे दर्ज किये जा चुके हैं

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के रामपुर (Rampur) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party- SP) सांसद आजम खान (Azam Khan) ने अपनी पत्नी के लिए एक जनसभा को संबोधित किया. इस दौरान अपना दर्द बयान करते हुए आजम खान भावुक भी हो गए.

  • Share this:
रामपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के रामपुर (Rampur) से समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद आज़म खान (Azam Khan) ने अपनी पत्नी के लिए एक जनसभा को संबोधित किया. आज़म खान की पत्नी डॉ. तजीन फातिमा उपचुनाव में एसपी की प्रत्याशी हैं. चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए आज़म ने जनता से वोट मांगे. इस दौरान उनका दर्द झलक आया और वो भावुक हो गए. आज़म ने कहा कि मेरा गुनाह है कि मैंने लोगों के लिए स्कूल बनाए और गुलामी छीनकर इल्म का कलम देने की गलती की. उन्होंने कहा कि जो यहां करोगे उसका हिसाब धरती पर ही होगा, कब्र में नहीं.

'मैंने ललकार के कहा मैं जुबान हूं तुम्हारी'
एसपी सांसद ने कहा, 'मेरे अजीजों मेरा गुनाह क्या है? इंसानियत और इंसानों के लिए लड़ने वाला एक बेसहारा शख्स जो तुम्हारे आंसू पोछने के लिए आया था, जिसने तुम्हारे सूखे हुए जिस्म में सांसें डालनी चाही थी, जो गुलामी की मजबूत जंजीरों को अपने हाथों से तोड़कर तुम्हारे माथे पर लिखे गुलामी के दाग को मिटा देना चाहता था. चक्की के पाटों के बीच पतली पर मैं 42 बरस तक अपने आप को मसलता रहा. मेरी आवाज बहुत दूर तक गई. मेरे दिल की धड़कनों ने लोगों के दिल चीर दिए. मैं जीत गया. बेआवाजों की मैं आवाज बना. मैंने ललकार के कहा मैं जुबान हूं तुम्हारी. मैं दर्द हूं तुम्हारा. तुम्हारे दिल की धड़कन हूं. मैं आबरू हूं तुम्हारी.'

मैंने स्कूल बनाए, बताओ इस गुनाह की सजा क्या है

आज़म खान ने साफ कहा कि यह मेरा गुनाह है कि मैंने तुम्हारे लिए स्कूल बनाए. बताओ इतिहास लिखनेवालों मेरे इस गुनाह की सजा क्या है? तुम्हारे हाथ से गुलामी की लानत को छीन कर इल्म का कलम देने की जो गलती मैंने की है उसकी सजा की तपसीर अगर सुनोगे तो तुम्हारे कानों से खून बहने लगेगा और तुम्हारा दिल भर जाएगा. भावुक आज़म खान ने कहा कि मैंने दर्द की वो मंजिलें सही है. मुझसे ज्यादती इंतकाम लेने वालों याद रखना जमीन पर जो करोगे उसका हिसाब कब्र में नहीं होगा.

'वह डाकू था मगर तुम्हारे लिए कलम लेकर आया था'
जनसभा को संबोधित करते हुए आज़म खान दोबारा भावुक हो गए. उन्होंने कहा कि कल को जब मेरी बुराई लिखी जाएगी और जब मेरे खून के आंसू मेरी तारीफ के उरांव पर हो तो लोग यह पकड़ लें कि एक ऐसा शख्स भी जमीन पर पैदा हुआ था जिसने तुम्हारी नस्लों के लिए मुर्गियां चुराई थी, बकरियां चुराई थी, भैंसे चुराई थी, किताबें चुराई थी. वो डाकू था मगर वह तुम्हारे लिए कलम लेकर आया था. उन्होंने कहा कि शर्म आती है. सोचता हूं तो शर्म आती है.
Loading...

बता दें कि यूपी की 11 विधानसभा सीटों के उपचुनाव में 21 अक्टूबर को वोटिंग होगी. इसी दिन महाराष्ट्र और हरियाणा के भी विधानसभा चुनाव कराए जाएंगे. चुनाव परिणाम इसके तीन दिन बाद यानी 24 अक्टूबर को आएंगे.

ये भी पढ़ें-

जब बाल ठाकरे ने आदित्य से कहा था, रैश ड्राइविंग मत करना लेकिन स्लो भी मत चलना

पटना में सुनहरे बालों वाली लड़की का खौफ, पलक झपकते ही लगा देती है चूना

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 12, 2019, 1:13 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...