आय से अधिक संपत्ति मामले में फंसे आजम खान, IT ने शुरू की जांच

पत्र में कहा था कि सपा नेता आज़म खान ने जौहर यूनिवर्सिटी के पास बनी ज़िला सहकारी बैंक की शाखा से नोट बन्दी के समय करेंसी एक्सचेंज कर अपना काला धन सफेद किया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: July 26, 2018, 7:41 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: July 26, 2018, 7:41 PM IST
सपा के कद्दावर नेता आज़म खान की मुश्किलें कम होने का नाम नही ले रही हैं. एक तरफ 2017 में सेना पर अमर्यादित टिप्पड़ी करने पर प्रदेश सरकार ने मुक़दमा चलाने की अभी हाल ही में अनुमति दी है, तो वहीं अब आय से अधिक संपत्ति के मामले में इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने जांच शुरू कर दी है.

दरअसल कांग्रेस नेता फैसल लाला ने 2016 में महामहिम राज्यपाल को एक शिकायती पत्र भेज कर शिकायत कि थी. पत्र में कहा था कि सपा नेता आज़म खान ने जौहर यूनिवर्सिटी के पास बनी ज़िला सहकारी बैंक की शाखा से नोट बन्दी के समय करेंसी एक्सचेंज कर अपना काला धन सफेद किया था. साथ ही यह भी शिकायत की थी कि आजम खान ने अपनी विधायक निधि, अपनी सांसद पत्नी की सांसद निधि और सांसद मुनव्वर सलीम की सांसद निधि का अस्सी प्रतिशत जौहर यूनिवर्सिटी में लगाया है.

‘रिकार्ड ब्रेकिंग’ होगी योगी सरकार की ‘ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी’: बीजेपी

इन शिकायतों का संज्ञान लेते हुए राज्यपाल महोदय की सिफारिश पर अब इनकम टैक्स विभाग ने इन आरोपों की जांच शुरू कर दी है. आयकर उप निदेशक (जांच) एम के पाण्डेय ने फैसल लाला को पत्र भेजकर उनसे कहा कि अगर उनके द्वारा लगाए गए आरोपों की जांच आयकर विभाग द्वारा की जा रही है अगर इन आरोपों से समन्धित कोई और दस्तावेज उनके पास हैं तो वो आयकर विभाग को उपलब्ध कराए.

‘स्पेशल 26’ की तर्ज पर बेरोजगारों से ठगी करने वाले गैंग का सरगना गिरफ्तार
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर