सांसद आज़म खान को बड़ा झटका, सुन्नी वक्फ बोर्ड ने जौहर ट्रस्ट को यतीमखाने की जमीन से किया बाहर
Rampur News in Hindi

सांसद आज़म खान को बड़ा झटका, सुन्नी वक्फ बोर्ड ने जौहर ट्रस्ट को यतीमखाने की जमीन से किया बाहर
फर्जी जन्म प्रमाणपत्र मामले में समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खान, उनके बेटे अब्दुल्ला आजम और पत्नी एसपी विधायक तजीन फातिमा 26 फरवरी से जेल में बंद हैंं.

मामले में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Uttar Pradesh Sunni Central Waqf Board) की तरफ से जुनैद खान को अब इस वक़्फ़ संख्या 157 का प्रशासक नियुक्त किया गया है. जुनैद खान वक़्फ़ बोर्ड के एग्जीक्यूटिव ऑफिसर हैं. आदेश के अनुसार अब इस वक्फ यानी यतीमखाने की जमीन पर करीब 26 परिवारों को जमीन दी जाएगी.

  • Share this:
रामपुर. उत्तर प्रदेश के रामपुर (Rampur) से बड़ी खबर आ रही है. उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड (Uttar Pradesh Sunni Central Waqf Board) ने जौहर ट्रस्ट (Jauhar Trust) को वक्फ संख्या 157 यतीम खाना के मुतवल्ली पद से हटा दिया है. ये रामपुर से सपा सांसद मोहम्मद आजम खान (SP MP Azam Khan) के लिए बड़ा झटका है. कारण ये है कि आज़म खान ही जौहर ट्रस्ट के संस्थापक/ अध्यक्ष हैं.

बोर्ड ने किया प्रशासक नियुक्त
बता दें वक़्फ़ संख्या 157 पर रामपुर पब्लिक स्कूल की बिल्डिंग बनी है. मामले में वक्फ बोर्ड की तरफ से जुनैद खान को अब इस वक्फ का प्रशासक नियुक्त किया गया है. जुनैद खान वक़्फ़ बोर्ड के एग्जीक्यूटिव ऑफिसर हैं. आदेश के अनुसार अब इस वक्फ यानी यतीमखाने की जमीन पर करीब 26 परिवारों को जमीन दी जाएगी.

मामले में कई वर्षों से लड़ाई लड़ रहे फैसल लाला ने बताया, '2016 में जब आजम खान वक्फ मंत्री थे तो उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए वक्फ संख्या 157 यतीमखाना रामपुर पर कब्जा किया. रात के अधेरे में कई परिवारों को उनके घर से निकाल दिया गया. उस जगह पर एक अवैध इमारत खड़ी कर दी. मैं लगातार 2016 से उन लोगों की आवाज बुलंद कर रहा हूं. अब इस मामले में बड़ी जीत मिली है. जिस जगह पर आजम खान ने अवैध कब्जा कर इमारत खड़ी की है, वहां आजम खान ने जौहर ट्रस्ट को मुतवल्ली बना दिया था."
sunni
सुन्नी वक्फ बोर्ड का आदेश




उन्होंने बताया कि सुन्नी वक्फ बोर्ड ने उन्हें मुतवल्ली पद से हटा दिया है, जौहर ट्रस्ट को टर्मिनेट कर दिया है. अब ये जगह उन यतीम परिवारों को वापस मिलेगी जो यहां 50 से 60 सालों से रहते आए हैं.

AZM RAMpur
सुन्नी बोर्ड का आदेश


फैसल लाला ने कहा कि लॉकडाउन खत्म होने के बाद रामपुर पब्लिक स्कूल की बिल्डिंग को ध्वस्त कराया जाएगा और वहां और गरीबों को बसाया जाएगा.

ये भी पढ़ें:-

एसटीएफ जांच रिपोर्ट में खुलासा- LU के एलएलबी थर्ड सेमेस्टर परीक्षा का पेपर लीक

उज्जवला गैस कनेक्शन देने में फर्जीवाड़ा, लेखपाल ने 26 ग्रामीणों की बदल दी जाति
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज