रामपुर: आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला के खिलाफ दर्ज हुआ जालसाजी का केस

समाजवादी पार्टी की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खान ने पिछले विधानसभा चुनाव में अपने बेटे अब्दुल्ला को स्वार टांडा से सपा प्रत्याशी बनाया था.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 3, 2018, 12:57 PM IST
रामपुर: आजम खां और उनके बेटे अब्दुल्ला के खिलाफ दर्ज हुआ जालसाजी का केस
पूर्व मंत्री आजम खां और विधायक अब्दुल्ला आजम की फाइल फोटो.
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 3, 2018, 12:57 PM IST
रामपुर में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व मंत्री आजम खां और उनके बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम पर कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने जालसाजी का केस दर्ज किया है. पूर्व मंत्री नवेद मियां ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की कोर्ट में प्रार्थना पत्र दे दिया था. समाजवादी पार्टी की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे आजम खान ने पिछले विधानसभा चुनाव में अपने बेटे अब्दुल्ला को स्वार टांडा से सपा प्रत्याशी बनाया था. अब्दुल्ला के नामांकन कराने के साथ ही उनकी उम्र को लेकर विवाद खड़ा हो गया था. वहीं नामांकन के दौरान फर्जी पेनकार्ड के इस्तेमाल का आरोप है.

बता दें कि बसपा प्रत्याशी रहे पूर्व मंत्री नवाब काजिम अली खान उर्फ़ नवेद मियां ने कहा कि अब्दुल्ला ने फर्जी प्रमाण पत्रों के आधार पर नामांकन पत्र दाखिल किया था. शपथ पत्र भी झूठा है उसके साथ जो पैन कार्ड लगा है, वह भी गलत है. इस पर जांच पड़ताल कराई गई तो उनके आरोप सही पाए गए. अब्दुल्ला की उम्र पैन कार्ड में कम पाई गई. नवेद मियां ने इसी जांच को आधार बनाकर अदालत में प्रार्थना पत्र दिया, जिसमें कहा कि अब्दुल्ला ने अपने नामांकन पत्र के साथ फर्जी प्रमाण पत्र दाखिल किए.

इसमे आजम खां की भी साजिश है. इसलिए अब्दुल्ला और उनके पिता आजम खां के खिलाफ कोर्ट के आदेश पर जालसाजी का मुकदमा दर्ज किया गया है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर