रामपुर: आजम खां और उनके परिवार की अग्रिम जमानत याचिका पर फैसला आज, इन मामलों में है केस दर्ज

रामपुर कोर्ट ने आजम खान को सपरिवार जेल ट्रांसफर मामले में सख्त रुख अपनाया है. (फाइल फोटो)
रामपुर कोर्ट ने आजम खान को सपरिवार जेल ट्रांसफर मामले में सख्त रुख अपनाया है. (फाइल फोटो)

दरअसल, आजम खां (Azam Khan) और उनके परिवार के खिलाफ दो-दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने, दो-दो पासपोर्ट बनवाने और दो-दो पैन कार्ड बनवाने के चार मुकदमे दर्ज हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2020, 9:00 AM IST
  • Share this:
रामपुर. उत्तर प्रदेश के रामपुर (Rampur) की निचली अदालत में सोमवार को समाजवादी पार्टी के सांसद आजम खां (Azam Khan), उनकी पत्नी डॉ. तंजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला आजम की विशेष न्यायधीश एडीजे 6 की कोर्ट में सुनवाई होगी. दरअसल, बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने उन पर दो पैनकार्ड, जन्म प्रमाण प्रत्र और पासपोर्ट बनवाने का मामला दर्ज करवाया है. इस पर कोर्ट में तीनों की अग्रिम जमानत याचिका को लेकर सोमवार को फैसला आना है.

बता दें, अब्दुल्ला के खिलाफ दो-दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने, दो-दो पासपोर्ट बनवाने और दो-दो पैन कार्ड बनवाने के मुकदमे दर्ज हैं. इनमें तीन मुकदमे बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने दर्ज कराए हैं. उनका आरोप है कि अब्दुल्ला ने दो जन्म प्रमाण पत्र बनवा रखे हैं.

पहला रामपुर, फिर लखनऊ से बनवाया बर्थ सर्टिफिकेट
एक जन्म प्रमाण पत्र उन्होंने रामपुर नगर पालिका से बनवाया है, जिसमें उनकी जन्मतिथि एक जनवरी 1993 दर्शाई गई है. दूसरा लखनऊ के अस्पताल से भी एक जन्म प्रमाण पत्र बनवा लिया, जिसमें उनकी जन्मतिथि 30 सितंबर 1990 है. बाद में पासपोर्ट और पैन कार्ड में उम्र ठीक कराने के लिए भी दूसरा पासपोर्ट और दूसरा पैन कार्ड बनवा लिया, जिसमें दूसरी जन्मतिथि है.
आजम खां और तंजीन फात्मा का भी नाम


आकाश ने एक मुकदमा दो जन्म प्रमाण पत्र बनवाने का दर्ज कराया है. उसमें अब्दुल्ला के साथ ही आजम और उनकी पत्नी डॉ. तंजीन फात्मा को भी नामजद किया है. आरोप लगाया है कि अब्दुल्ला का जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए आजम और उनकी पत्नी ने जो शपथ पत्र दिया है उसमें झूठ बोला है.

ये भी पढ़ें: फर्जी प्रमाण पत्र मामला: SP सांसद आज़म खान को हाईकोर्ट से बड़ा झटका, मुकदमा और चार्जशीट रद्द करने से किया इंकार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज