लाइव टीवी

Rampur Election Result 2019: जया प्रदा के खिलाफ भारी मतों से आगे आजम खान

News18Hindi
Updated: May 23, 2019, 1:46 PM IST
Rampur Election Result 2019: जया प्रदा के खिलाफ भारी मतों से आगे आजम खान
Lok Sabha Election 2019: जया प्रदा के लिए इस बार की चुनावी लड़ाई पहले जैसी आसान नहीं रहने वाली. जया के लिए एक और समस्या कांग्रेस की तरफ से संजय कपूर का खड़ा होना है. संजय कपूर स्थानीय नेता हैं.

Lok Sabha Election 2019: जया प्रदा के लिए इस बार की चुनावी लड़ाई पहले जैसी आसान नहीं रहने वाली. जया के लिए एक और समस्या कांग्रेस की तरफ से संजय कपूर का खड़ा होना है. संजय कपूर स्थानीय नेता हैं.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश लोकसभा रिजल्ट के लिए काउंटिंग जारी है. ऐसे में यूपी की सबसे हॉट सीटों में से एक रामपुर पर शुरुआती रुझान पलट गए हैं. इस क्षेत्र में ईवीएम खुलने बाद लगातार ऐसे रुझान आ रहे थे कि बीजेपी उम्मीदवार जया प्रदा आगे चल रही हैं. लेकिन दोपहर दस बजे अचानक रुझान पहट गए और जया प्रदा के बरक्स आजम ने बढ़त बना ली. इस समय आजम खान करीब 90 हजार वोटों से आगे चल रहे हैं.

रामपुर सीट का इतिहास
रामपुर ऐसी लोकसभा सीट है जहां से चुनाव जीतकर अबुल कलाम आजाद देश के पहले शिक्षा मंत्री बने थे. बात 1952 की है. लेकिन उसके बाद सिर्फ 1977 में इमरजेंसी के बाद हुए चुनावो को छोड़ दिजा जाए तो कांग्रेस लगातार 1989 तक लगातार जीती.

1977 और 1991 में दो बार राजेंद्र कुमार शर्मा ने यहां से जीत हासिल की थी और दोनों ही बार अलग-अलग पार्टियों की टिकट पर. '77 में वो जहां जनता पार्टी के टिकट पर थे तो '91 में बीजेपी के टिकट से. बाद में 1996 में कांग्रेस की बेगम नूर बानों यहां से चुनाव जीतीं तो 1998 में मुख्तार अब्बास नकवी ने बीजेपी के टिकट यह सीट फिर कब्जाई. 1999 में फिर जब बेगम नूर बानो जीतीं तो यह आखिरी बार था जब कांग्रेस का इस सीट पर सिक्का चला था. उसके बाद समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी और अदाकारा जया प्रदा 2004 और 2009 जीतकर संसद पहुंचीं. 2014 में बीजेपी के डॉ. नेपाल सिंह मोदी लहर में इस सीट से जीते थे.

जया प्रदा का इस सीट पर इतिहास
इस बार बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ने पहुंचीं जया प्रदा यहां से दो बार लोकसभा का चुनाव जीत चुकी हैं. लेकिन तब अंतर ये था मुस्लिम बहुल इस इलाके में जया प्रदा को मुलायम सिंह यादव की वजह से एकमुश्त अल्पसंख्यक वोटों का फायदा हो जाता था. लेकिन इस बार की कहानी पिछली बार से उलट है. रामपुर विधानसभा सीट से 9 बार से लगातार विधायकी का चुनाव जीत रहे आजम खान जया प्रदा के सामने हैं. आजम खान की इलाके में बेहतर पैठ और वक्त गुजरने के साथ उन्होंने खुद को रामपुर की पहचान के तौर पर स्थापित किया.

ऐसे में जया प्रदा के लिए इस बार की चुनावी लड़ाई पहले जैसी आसान नहीं रहने वाली. जया के लिए एक और समस्या कांग्रेस की तरफ से संजय कपूर का खड़ा होना है. संजय कपूर स्थानीय नेता हैं. और इस स्थिति में त्रिकोणीय लड़ाई होने के पूरे आसार हैं.अपने WhatsApp पर पाएं लोकसभा चुनाव के लाइव अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 23, 2019, 10:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर