Assembly Banner 2021

आज़म खान पर कसा शिकंजा, ED ने तलब की अवैध संपत्तियों की रिपोर्ट

सपा के कद्दावर नेता आजम खान की फाइल फोटो

सपा के कद्दावर नेता आजम खान की फाइल फोटो

प्रवर्तन निदेशालय के लखनऊ जोन कार्यालय ने यूपी पुलिस और जिला प्रशासन से आजम खान के खिलाफ दर्ज मुकदमों के बारे में रिपोर्ट मांगी है.

  • Share this:
रामपुर के सांसद और यूपी के पूर्व मंत्री आजम खान की मुश्किलें और बढ़ सकती हैं. ढेर सारे विवादों में मुकदमे दर्ज होने और भूमाफिया के तौर पर चिन्हित हो जाने के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी शिकंजा कसने की तैयारी शुरू कर दी है.

ईडी के लखनऊ जोन कार्यालय ने यूपी पुलिस और जिला प्रशासन से उनके खिलाफ दर्ज मुकदमों के बारे में रिपोर्ट मांगी है. किसानों की जबरदस्ती जमीन कब्जा करने के आरोप में आज़म खान पर अब तक 27 मुक़दमे दर्ज हैं. जिला प्रशासन उन्हें भूमाफिया भी घोषित कर चुका है.

इस बीच आजम खान ने ट्वीट कर अपने ऊपर लगे सभी आरोपों को फर्जी बताया. उन्होंने लिखा 'सैकड़ो फ़र्ज़ी आरोप मुझ पर लगा दिये. इतने आरोप तो ददुआ और वीरप्पन पर भी नही लगे. मुझे पुलिस इनकाउंटर में क्यों नही मरवा देते ये रही मेरे बड़े से गुनाह की छोटी सी तस्वीर. आजम ने इस ट्वीट के साथ
जौहर यूनिवर्सिटी की तस्वीर भी शेयर की.
सपा के जांच दल ने आजम खान को दी क्लीन चिट



जौहर यूनिवर्सिटी में आजम खान पर लगे आरोपों की जांच के लिए सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 21 सदस्यों की जांच समिति बनाई थी. समिति ने रामपुर में जौहर यूनिवर्सिटी से जुड़े आरोपों की जांच की. समिति ने मंगलवार को अपनी रिपोर्ट पार्टी अध्यक्ष को सौंपी, जिसमे आजम खान को क्लीन चिट दे दी गई.

आजम के मुद्दे पर दोनों सदनों में हंगामा

जौहर विश्वविद्यालय रामपुर के कुलाधिपति आजम खान के विरूद्ध फर्जी मुकदमे दायर करने के मुद्दे पर सपा सदस्यों ने विधानमंडल के दोनों सदनों में जमकर हंगामा किया. नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, राजपाल कश्यप, राजेश यादव, जितेंद्र यादव, आनंद भदौरिया, संजय मिश्रा आदि ने सपाइयों पर फर्जी मुक़दमे दर्ज करने का आरोप लगाया.

(इनपुट: विशाल सक्सेना)

ये भी पढ़ें:

सोनभद्र: चुपके से उम्भा गांव पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, पीड़ितों के लिए मांगी सुरक्षा

चित्रकूट: एंबुलेंस नहीं मिली तो बाइक पर शव लेकर गया पिता
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज