पासपोर्ट-पैनकार्ड केस: सपा सांसद आज़म खान और बेटे अब्दुल्ला की जमानत याचिका हुई खारिज
Rampur News in Hindi

पासपोर्ट-पैनकार्ड केस: सपा सांसद आज़म खान और बेटे अब्दुल्ला की जमानत याचिका हुई खारिज
सपा सांसद आजम खान (File Photo)

बता दें इसी मामले में आजम खान (Azam Khan), उनकी पत्नी तजीन फातमा और अब्दुल्ला आजम सीतापुर जेल में बंद हैं. बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कराया था.

  • Share this:
रामपुर. सीतापुर जेल में बंद समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) सांसद आजम खान (MP Azam Khan) को बड़ा झटका लगा है. रामपुर कोर्ट (Rampur Court) ने दो पैनकार्ड और दो पासपोर्ट मामले में आजम खान और उनके बेटे अब्दुल्ला आजम (Abdullah Azam) की जमानत याचिका खारिज कर दी है. एडीजे-6 की कोर्ट ने ये याचिका खारिज की है. बता दें इसी मामले में आजम खान, उनकी पत्नी तजीन फातमा और अब्दुल्ला आजम सीतापुर जेल में बंद हैं. बीजेपी नेता आकाश सक्सेना ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कराया था.

आजम खान के वकील खलीउल्लाह ने बताया कि आज 4 मामलों में जमानत पर सुनवाई हुई. इसमें तीन मामले पासपोर्ट और पैनकार्ड से संबंधित थे, ये तीनों ही मामलों में कोर्ट ने जमानत की मांग खारिज कर दी है. इसमें आजम खान और अब्दुल्ला खान की तरफ से जमानत याचिका लगाई गई थी. वहीं एक अन्य मामले में आजम खान को जमानत मिल गई है. ये केस यतीमखाने से संबंधित है.

मंगलवार को दो मामलों में मिली थी जमानत
इससे पहले मंगलवार को आजम खान के लिए राहत की खबर आई थी, जब  रामपुर में कोर्ट ने आजम खान के खिलाफ यतीमखाने से जुड़े दो मामलों में जमानत मंजूर कर ली. मामले में आजम खान के वकील खलील उल्लाह ने बताया कि आज दो मामलों में बेल हुई है. एक थाना कोतवाली से जुड़ा मामला है, उसमें जमानत मंजूर हो गई है. वहीं दूसरा केस थाना अजीमनगर से जुड़ा केस है. दोनों ही केसों में डकैती और जबरन घर से निकालने के आरोप हैं. इनमें दोनों ही मामले में जमानत मंजूर हो गई है.
ये है पूरा मामला


बीजेपी नेता आकाश सक्सेना द्वारा लिखवाई गई एफआईआर के मुताबिक आज़म के पुत्र अब्दुल्लाह आजम के दो जन्म प्रमाण पत्र बने हैं. एक जन्म प्रमाण पत्र आज़म और उनकी पत्नी तज़ीन के शपथपत्र के बाद 28 जून 2012 को नगर पालिका परिषद रामपुर से जारी किया गया. इस जन्म प्रमाणपत्र में अब्दुल्ला का जन्मस्थान रामपुर दिखाया गया है. वहीं दूसरा जन्म प्रमाणपत्र लखनऊ के क्वीन मैरी हॉस्पिटल के बर्थ सर्टिफिकेट के आधार पर नगर निगम लखनऊ ने 21 जनवरी 2015 को जारी किया. लखनऊ नगर निगम से जारी जन्म प्रमाणपत्र भी आज़म के शपथपत्र के बाद जारी हुआ था. ये जन्म प्रमाणपत्र डुप्लीकेट के तौर पर जारी हुआ था.

एफआईआर में आरोप है कि रामपुर से बने जन्म प्रमाण पत्र के आधार पर अब्दुल्लाह आजम का पासपोर्ट बना, जिस पर उन्होंने विदेश यात्राएं की. वहीं लखनऊ से बने जन्म प्रमाण पत्र के आधार पर जौहर यूनिवर्सिटी की तमाम मान्यताएं और फायदे लिए गए. एफआईआर के मुताबिक सोची समझी साजिश के तहत 2 जन्म प्रमाण पत्र धोखाधड़ी से और कूटरचित दस्तावेजों का इस्तेमाल कर बनवाए गए.

इनपुट: विशाल सक्सेना

ये भी पढ़ें:

सीतापुर जेल में बंद आजम खान को राहत, यतीमखाने से जुड़े 2 मामलों में जमानत मंजूर

IIT BHU ने बनाया हर्बल सेनिटाइज़र, 2 घंटे में हो रहा 10 लीटर का उत्पादन
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading