जेल ट्रांसफर मामला गरमाया, सख्त रामपुर कोर्ट ने जेल अधीक्षक से कहा- आजम खान को परिवार सहित पेश करें
Rampur News in Hindi

जेल ट्रांसफर मामला गरमाया, सख्त रामपुर कोर्ट ने जेल अधीक्षक से कहा- आजम खान को परिवार सहित पेश करें
रामपुर कोर्ट ने आजम खान को सपरिवार जेल ट्रांसफर मामले में सख्त रुख अपनाया है. (फाइल फोटो)

मामले में आजम खान के वकील खलीलुल्लाह खान ने बताया कि उन्होंने कोर्ट में एप्लीकेशन दाखिल कर कहा था कि आज़म खान और उनके परिवार को बगैर कोर्ट की परमिशन के शिफ्ट कर दिया गया. हमारी एप्लिकेशन का उन्होंने जवाब दिया है, उनके जवाब से कंटेम्प प्रोसिडिंग बन रही है.

  • Share this:
रामपुर. उत्तर प्रदेश के रामपुर कोर्ट में शुक्रवार को सपा सांसद आजम खान (SP MP Azam Khan), उनकी पत्नी और सपा विधायक तंजीम फातिमा (Tazeen Fatma) और बेटे अब्दुल्ला को सीतापुर जेल में ट्रांसफर किए जाने के मामले की सुनवाई हुई. एडीजे-6 की कोर्ट ने रामपुर जेल अधीक्षक से जेल ट्रांसफर को लेकर नोटिफिेकेशन की हार्ड कॉपी मांग ली है. साथ ही कोर्ट ने मामले में जेल अधीक्षक को आजम खान और उनके परिवार को शनिवार को कोर्ट में पेश करने का आदेश दिया था लेकिन लंच के बाद शासन की तरफ से सरकारी वकील ने भी इस मसले पर अर्जी लगाते हुए बहस के लिए कोर्ट से समय मांगा जिस पर कोर्ट ने उन्हें 3 मार्च का समय दे दिया है. उधर कोर्ट के निर्देशों के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है. हालांकि कोर्ट के इस निर्देश के बावजूद कई अन्य मामलों में आज़म परिवार की शनिवार को कोर्ट में पेशी होगी.

मामले में आजम खान के वकील खलीलुल्लाह खान ने बताया कि उन्होंने कोर्ट में एप्लीकेशन दाखिल कर कहा था कि आज़म खान और उनके परिवार को बगैर कोर्ट की परमिशन के शिफ्ट कर दिया गया. हमारी एप्लिकेशन का उन्होंने जवाब दिया है, उनके जवाब से कंटेम्प प्रोसिडिंग बन रही है. हमारी मांग है कि मामले में स्पेशल सेकेट्री, डीएम, डीजी जेल लखनऊ और दोनों जेल अधीक्षक (रामपुर और सीतापुर) के खिलाफ अवमानना का केस चलाया जाए. उन्होंने बताया कि कोर्ट ने जेल अधीक्षक से नोटिफिकेशन की हार्ड कॉपी मांगी है. साथ ही कोर्ट ने जेल अधीक्षक को निर्देश दिए हैं कि कल (29 फरवरी) आज़म खान और उनके परिवार को इफेक्टिवली कोर्ट में पेश करें. हालांकि लंच के बाद शासन की तरफ से सरकारी वकील ने भी इस मसले पर अर्जी लगाते हुए बहस के लिए कोर्ट से समय मांगा जिस पर कोर्ट ने उन्हें इस मामले में 3 मार्च का समय सुनवाई के लिए दिया है.

इनपुट: विशाल सक्सेना



ये भी पढ़ें:



UP में अब गाजीपुर को गाधिपुरी करने की उठी मांग, बीजेपा नेता ने दिया ज्ञापन

लॉ छात्रा ने SC में चिन्मयानंद केस ट्रांसफर की लगाई अर्जी, जान का खतरा जताया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading