आजम खान का सीएम योगी पर हमला, कहा- यूपी की कुर्सी पर बैठा शख्स 302 का मुलजिम

आजम खान यहीं नहीं रुके, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला किया. उन्होंने कहा, "मोदी जी आपने हिन्दू और मुसलमानों के बीच दीवारें खड़ी कर दी."

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 10, 2019, 10:54 AM IST
आजम खान का सीएम योगी पर हमला, कहा- यूपी की कुर्सी पर बैठा शख्स 302 का मुलजिम
सपा प्रत्याशी आजम खान की फाइल फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 10, 2019, 10:54 AM IST
सपा के कद्दावर नेता और रामपुर से गठबंधन प्रत्याशी आज़म खान ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर निशाना साधा है. तहसील बिलासपुर क्षेत्र में हुई जनसभा में बोलते हुए आज़म खान ने मुख्यमंत्री को 302 का मुजरिम बता दिया.

आजम खान ने कहा, "जौहर यूनिवर्सिटी के बच्चों के पानी की टंकी का कनेक्शन काट दिया. योगी जी तुमने अपने धर्म को शर्मिंदा और कलंकित कर दिया. उत्तर प्रदेश की कुर्सी पर बैठा शख्स 302 का मुजरिम है. यादव कॉन्स्टेबल का हत्यारा है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने अपनेपर लगा 302 का मुक़दमा वापस ले लिया. ये कहां कि इंसाफ है? मेरे ऊपर कलेक्टर और एसपी ने मुक़दमे कायम कर दिए. रोज तीन-चार मुक़दमे कायम हैं. मुझे मारने के लिए कौन सी साजिश नही हुई. दुनिया में कौन इंसान इतना नीच और दरिंदा होगा, जो बच्चे का कान पकड़ कर उठा लेगा. दरिंदों हम बददुआ देते हैं, तुम्हारे घरों में अपाहिज पैदा हों. कुदरत तुम्हारे इस अजीम गुनाह की अजीम सजा दे."

आजम खान यहीं नहीं रुके, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी हमला किया. उन्होंने कहा, "मोदी जी आपने हिन्दू और मुसलमानों के बीच दीवारें खड़ी कर दीं. आपके पास पाकिस्तान और मुसलमान के अलावा कोई नारा नहीं है. मुसलमानों के लिए हिन्दू भाइयों के दिलों में नफरत का जहर घोल रहे हैं. मोदी जी ये क्या कर रहे हैं आप? नौजवानों को ताकत दीजिये. झूठे वादों से उन्हें आज़ादी दीजिये. बादशाह झूठा नही होता और झूठा बादशाह नही होता."

अमर सिंह और जयाप्रदा का नाम लिए बिना आज़म ने कहा, "बिस्तर पर लेटा शख्स कहता है मेरे सामने पड़ जाए तो मैं गोली मार दूंगा. क्या चाहते हो? मेरा अंत चाहते हो. तुम मारो मुझे, लेकिन परदेसी से क्यों मरवाते हो मुझे. 17 साल पहले मैं लाया था. उंगली पकड़ कर रामपुर की गलियों में मैने चलाया था. मैंने पहचान कराई थी और किसी का कांधा नहीं लगने दिया था. तुम्हें पहचानने में 17 साल लगे. मैं 17 दिन में पहचान गया. मैं दानव हूं, मेरा अंत करने आये हैं."

इस दौरान आज़म ने दलितों और पिछड़ों से एक हो जाने की अपील की. उन्होंने कहा, "लोगों उठो, मेरी दुनिया के गरीबों को जगा दो. दलितों और पिछड़ों एक हो जाओ. 70 साल के बाद तुम्हें ये मौका मिला है.
दिल्ली के लाल किले पर झंडा तुम्हारे बिना नहीं फहराया जा सकता. पहली बार तुम्हें ये हक मिला है. हिंदुस्तान के बादशाह के सर पर ताज उस वक्त तक नहीं रखा जा सकता, जब तक तुम अपने हाथ उसके साथ न मिला दो."

(रिपोर्ट: विशाल सक्सेना)
Loading...

ये भी पढ़ें: सहारनपुर में कांग्रेस के इमरान मसूद को मिल सकता है भीम आर्मी का समर्थन, जल्द ऐलान संभव

ये भी पढ़ें: सपा को लगा झटका, नाराज पूर्व मंत्री राजकिशोर सिंह ने छोड़ी पार्टी

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 10, 2019, 8:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...