रामपुर: यूपी के पांच जिलों में ऑक्सीजन प्लांट लगाएगी रेडिको खेतान, सरकार से मांगी मंजूरी

रेडिको खेतान के डायरेक्टर केपी सिंह ने किया ॉयजन प्लांट लगाने का ऐलान

रेडिको खेतान के डायरेक्टर केपी सिंह ने किया ॉयजन प्लांट लगाने का ऐलान

Rampur News: केपी सिंह ने बताया कि हमने पांच जिलों के लिए मशीनों का ऑर्डर दे दिया है. कोशिश यही रहेगी कि जल्द ये जल्द यह मशीनें उन जिलों में आये ताकि उन हॉस्पिटल और मरीजों को यह सुविधा मिल सके.

  • Share this:

रामपुर. पूरा देश कोरोना महामारी (Corona Pandemic) से जूझ रहा है और इस विपदा की घड़ी में ऑक्सीजन की कमी (Oxygen Crisis) के कारण हर तरफ कोहराम मचा हुआ है. ऐसे संकट के समय में रामपुर(Rampur) की रेडिको खेतान (Radico Khetan) कम्पनी ने उत्तर प्रदेश के पांच जिलों में ऑक्सीजन प्लांट (Oxygen Plant) लगाने का ऐलान किया है. जिसके लिए प्रदेश सरकार से भी बात कर ली गयी है. रेडिको खेतान फिलहाल रामपुर, बांदा, कौशाम्बी, प्रयागराज और चित्रकूट में ऑक्सीजन प्लांट लगाने जा रही है.

News 18 से खास बातचीत करते हुए रेडिको खेतान कम्पनी के डायरेक्टर केपी सिंह ने बताया कि योगी सरकार ऑक्सीजन को लेकर बहुत गंभीर है, लेकिन जितनी सप्लाई सरकार दे रही है वह पूरी नहीं हो रही है. लोग बीमार ज्यादा हो रहे हैं, ऐसे में समाज सेवा के क्षेत्र में इंडस्ट्रीज को आगे आना चाहिए. कोई इंडस्ट्रीज आगे आये उससे पहले हमने खुद मुख्यमंत्री जी के माध्यम से निवेदन किया कि हमने पांच जिलों को चिन्हित किया है, जहां ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए हम अपने जनरेटर लगवाएंगे. जिन जगह यह प्लान्ट लगेंगे वो हॉस्पिटल बाहर की ऑक्सीजन पर डिपेंड नहीं रहेंगे.


मशीनों का दिया गया आर्डर
केपी सिंह ने बताया कि हमने पांच जिलों के लिए मशीनों का ऑर्डर दे दिया है. कोशिश यही रहेगी कि जल्द ये जल्द यह मशीनें उन जिलों में आये ताकि उन हॉस्पिटल और मरीजों को यह सुविधा मिल सके. कम्पनी के डायरेक्टर ने बताया कि सरकार के पास जितने भी तीस से लेकर पचास बेड तक के हॉस्पिटल व सीएचसी है, वहां सप्लाई होगी. हम लोग पूरी व्यवस्था सरकार को बनाकर देंगे. ऑक्सीजन की गुणवक्ता की जानकारी भी हमे रहेगी, ताकि किसी भी मरीज को ऑक्सीजन की कमी की वजह से जान गंवानी न  पड़े.

Youtube Video

ढाई से तीन करोड़ आएगा खर्च



के पी सिंह ने बताया कि इसकी शुरुआत हम रामपुर से करेंगे। इसके अलावा कौशाम्बी, इलाहाबाद, बांदा है और भी ज़िले हैं वहां हम सरकार के साथ मिलकर प्लांट लगाएंगे. लेकिन रामपुर और मुरादाबाद को हम वरीयता देंगे. कम्पनी के डायरेक्टर ने बताया कि रामपुर के ज़िलाधिकारी से हमने बात की है. उन्होंने कहा कि इस प्लांट को लगाने में काफी लागत आती है. इन पांचों प्रोजेक्ट पर करीब ढाई से तीन करोड़ का खर्च आएगा.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज