फांसी की सजा रोकने के लिए शबनम ने उठाई CBI जांच की मांग, रामपुर जेल में बेटे ताज से हुई मुलाकात

राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका ठुकराए जाने के बाद शबनम को फांसी दिए जाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं (फाइल फोटो)

राष्ट्रपति द्वारा दया याचिका ठुकराए जाने के बाद शबनम को फांसी दिए जाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं (फाइल फोटो)

रामपुर जेल (Rampur Jail) में अपनी मां शबनम से मिलने के बाद उसके बेटे ताज ने कहा कि उसकी अम्मी ने उससे कहा है कि खूब अच्छे से पढ़ाई करना. ताज ने कहा कि उसने राष्ट्रपति से यह अपील की है कि उसकी मां को माफ कर दिया जाए. ताज ने कहा कि वो चाहता है कि उसकी मां को फांसी की सजा नहीं हो

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 22, 2021, 12:08 AM IST
  • Share this:
रामपुर. रामपुर जेल में बंद शबनम की फांसी (Shabnam Hanging) की तारीख अभी तय नही है, लेकिन इस मामले में शबनम ने सीबीआई जांच (CBI Enquiry) की मांग कर सबको हैरान कर दिया है. शबनम के बेटे के केयर टेकर उस्मान ने यह बात बताई है. वो रामपुर जेल (Rampur Jail) जाकर शबनम से मिले थे. उनके साथ शबनम का बेटा ताज भी था जिसकी देखभाल वो कर रहे हैं.

बता दें कि अमरोहा जिले के बाबनखेड़ी गांव में 14-15 अप्रैल, 2008 की दरम्यानी रात को अपने प्रेमी सलीम के साथ मिलकर शबनम ने अपने परिवार के सात सदस्यों को मौत की नींद सुला दी थी. इस जघन्य अपराध को करने वाली शबनम और उसके प्रेमी सलीम को फांसी दी जाएगी. जुलाई 2019 से शबनम रामपुर जेल में बंद है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राष्ट्रपति ने शबनम और सलीम की दया याचिका को ठुकरा दिया है.

रामपुर जेल में अपनी मां शबनम से मिलने के बाद उसके बेटे ताज ने कहा कि उसकी अम्मी ने उससे कहा है कि खूब अच्छे से पढ़ाई करना. ताज ने कहा कि उसने राष्ट्रपति से यह अपील की है कि उसकी मां को माफ कर दिया जाए. ताज ने कहा कि वो चाहता है कि उसकी मां को फांसी की सजा नहीं हो. जेल में शबनम से मिलने के बाद उस्मान ने कहा कि अगर शबनम ने यह गुनाह किया है तो उसे बिल्कुल भी बचाना नहीं चाहिए. एक बार शबनम को मीडिया से बात करने की अनुमति दी जाए. उनका कहना है कि शबनम ने इस मामले में सीबीआई की जांच की मांग की है.

ताज के केयर टेकर उस्मान ने कहा कि पांच साल में पहली बार जब मैंने शबनम से पूछा कि क्या यह गुनाह तुमने किया है तो उसने कहा कि उसे फंसाया गया है. वो पहले भी कोर्ट में इसकी जांच की मांग करती रही है, लेकिन उसकी मांग पूरी नहीं की गई है. उस्मान ने कहा कि ताज बुलंदशहर के एक अच्छे स्कूल में पढ़ रहा है, और उसकी बेहतर शिक्षा का ख्याल रखा जा रहा है. उन्होंने कहा कि मीडिया को ताज का चेहरा छिपाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज