मुश्किल में फंस गए हैं आजम खान, लटक रही है गिरफ्तारी की तलवार
Rampur News in Hindi

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर से सांसद आजम खां की मुश्किल बढ़ने वाली हैं. यहां तक कि उनकी गिरफ्तारी भी संभव है.

  • Share this:
समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और रामपुर से सांसद आजम खां की मुश्किल बढ़ने वाली हैं. यहां तक कि उनकी गिरफ्तारी भी संभव है. रामपुर में कई दशकों से आजम की तूती बोलती है. आजम खान का दावा है कि उनकी बिना मर्जी के वहां पत्ता भी नहीं हिलता. लेकिन अब उनके ही गढ़ में आजम के खिलाफ आवाज उठने लगी हैं. कई किसानों ने उन पर जबरन जमीन कब्जाने का आरोप लगाते हुए आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया है. इतना ही नहीं आजम पर पीड़ितों को झूठे केसों में फंसाने का भी गंभीर आरोप है.

जौहर विश्वविद्यालय के लिए हड़पी जमीन!
पीड़ित किसानों का आरोप है कि आजम अपने जौहर विश्वविद्यालय के लिए कई किसानों की सैकड़ों करोड़ की जमीन हड़प चुके हैं. उनके खिलाफ रामपुर के अजीमनगर थाने में आपराधिक मुकदमा दर्ज कराया गया है. एक तो पहले ही समाजवादी पार्टी लोकसभा में हार के बाद से कोप भवन में कैद है. अब आजम पर उनके पुराने साथी और बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल भी तंज कस रहे हैं.

आरोपों पर गंभीर हुई समाजवादी पार्टी
आजम पर लगे आरोपों को पार्टी ने गंभीरता से लिया है. समाजवादी पार्टी ने विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन के नेतृत्व में विधानसभा और विधान परिषद के सदस्यों की एक जांच समिति बना दी है. ये कमेटी रामपुर जाकर उनके खिलाफ दर्ज हुए मुकदमों की जांच करेगी और उसके बाद अखिलेश यादव, विधानसभा अध्यक्ष और विधान परिषद के सभापति को ये रिपोर्ट सौंपेगी.



नरेश अग्रवाल की खरी-खोटी
बीजेपी नेता नरेश अग्रवाल ने भी आजम खान पर निशाना साधा है. उनका कहना है कि जिस पार्टी के साथ जनता नहीं होती है, उस पार्टी का यही हाल होता है. आजम खान समाजवादी पार्टी के लिए कोढ़ की तरह हैं. नरेश अग्रवाल ने अखिलेश यादव पर भी निशाना साधा है. उन्होंने कहा कि यह समाजवादी पार्टी का अंतिम समय चल रहा है. धीरे-धीरे यह पार्टी समाप्त हो जाएगी. लोकसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी के सभी नेता मायावती के चरणों में नतमस्तक हो गए थे वहीं समाजवादी पार्टी समाप्त हो गई. उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा दोनों समाप्त हो जाएंगी

(रामपुर से विशाल सक्सेना के साथ राजीव तिवारी)

ये भी पढ़ें:

CM योगी को 20 साल पुराने हत्या के मामले में मिली बड़ी राहत

उत्तर प्रदेश: सुप्रीम कोर्ट के फैसले ने बचाई 1 लाख शिक्षकों की नौकरी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज