लाल किला-संसद भी गुलामी की निशानियां, मिटा दो इन्हें: आज़म खान
Rampur News in Hindi

लाल किला-संसद भी गुलामी की निशानियां, मिटा दो इन्हें: आज़म खान
आजम खान (फाइल फोटो- पीटीआई)

आजम ने कहा कि लेकिन मैं पहले से इस राय का हूं कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए.

  • Share this:
समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान ने कहा है कि वह ताजमहल को लेकर संगीत सोम के बयान का जवाब नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि गोश्त के कारखाने चलाने वालों को राय देने का अधिकार नहीं है, इस पर योगी और मोदी फैसला करेंगे.

आजम ने कहा, "लेकिन मैं पहले से इस राय का हूं कि गुलामी की उन तमाम निशानियों को मिटा देना चाहिए. जिससे कल के शासकों की बू आती हो. ये सच है कि मुगल हिंदुस्तान पर काबिज हुए. किन हालात में आए. कौन लेकर आया. ये बहस अगर होगी तो बहस पर कड़वाहट आ जाएगी. और लोग हमारी बात का बुरा मानेंगे."

उन्होंने कहा, "मैंने तो पहले ही कहा था कि अकेले ताजमहल ही क्यों पार्लियामेंट, राष्ट्रपति भवन, कुतुबमीनार, दिल्ली का लाल किला ये सब गुलामी की निशानियां हैं. हम बादशाह से अपील करते हैं और हमने छोटे बादशाह से तो कहा है कि चलो आप आगे, हम आपके साथ चलेंगे."



खान ने आगे कहा, "पहला फावड़ा आपका होगा, दूसरा हमारा होगा. हिम्मत तो करें. आजम ने कहा कि मैं समझता हूं कि कहने के बाद कद़म पीछे हटा लेना राजनीतिक नपुंसकता है. जो लोग इसे गुलामी की निशानी कह रहे हैं, उनका तो पूरे देश पर राज है, क़ब्ज़ा है."
(रिपोर्ट: विशाल सक्सेना)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading