जौहर यूनिवर्सिटी में खैर के 2173 पेड़ गायब! मामले में फंसते दिख रहे आजम खान

उत्तर प्रदेश के रामपुर (Rampur) में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद आजम खान (Azam Khan) की मुश्किलें रोज बढ़ती जा रही हैं. ताजा मामले में आजम जौहर यूनिवर्सिटी (Jauhar University) में खैर के 2173 पेड़ गायब होने के मामले में फंसते दिख रहे हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2019, 1:22 PM IST
जौहर यूनिवर्सिटी में खैर के 2173 पेड़ गायब! मामले में फंसते दिख रहे आजम खान
अब 2000 से ज्यादा खैर के पेड़ गायब होने के मामले में फंसते नजर आ रहे आजम खान
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 23, 2019, 1:22 PM IST
उत्तर प्रदेश के रामपुर (Rampur) में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के सांसद आजम खान (Azam Khan) की मुश्किलें रोज बढ़ती जा रही हैं. ताजा मामले में आजम जौहर यूनिवर्सिटी (Jauhar University) में खैर के 2173 पेड़ गायब होने के मामले में फंसते दिख रहे हैं. मामले में एडीएम ने कहा कि गाटा संख्या 1252 और 1418 नम्बर की ज़मीन का ये मामला है. ये जमीन जौहर यूनिवर्सिटी को लीज पर दी गयी थी. लीज के समय दोनों जगह पर 2173 खैर के पेड़ थे. लेकिन एसडीएम सदर की आख्या 4 जून, 2019 की रिपोर्ट में उन दोनों जगह पर कोई पेड़ नहीं हैं. मामले में अब आरोप लगा है कि शासनादेश की शर्तों का उल्लंघन किया गया. मामले में ज़िला प्रशासन ने शासन को अपनी तरफ से रिपोर्ट भेज दी है. दोनों जगह की लीज निरस्तीकरण के लिए भी शासन को लिखा गया है.

मामले में एडीएम जगदंबा प्रसाद गुप्ता ने बताया कि दो गाटा नंबर की जमीन का लीज इन्हें किया गया था. उसमें ये शर्त थी कि खैर के जो 2173 पेड़ थे, उन्हें यथावत रखा जाएगा. जांच हुई तो पता चला कि वहां ये पेड़ अब नहीं हैं, इस पर रिपोर्ट मंगवाई गई. इस संबंध में दो सदस्यीय जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट शासन को भेजी है. उसी क्रम में वन विभाग को आदेश मिला है कि मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई करें.

दर्ज हुआ एक और मुकदमा

बता दें हाल ही में भूमाफिया घोषित होने और कई मुकदमे दर्ज होने के बाद समाजवादी पार्टी नेता के खिलाफ एक और मुकदमा दर्ज किया गया है. रामपुर से लोकसभा सदस्य आजम खान पर शत्रु संपत्ति को वफ्फ संपत्ति में दर्ज करने और वक्फ संपत्ति को हड़पने का आरोप लगा है.

जानकारी के मुताबिक, आजम खान, उनकी पत्नी तंजीन फातिमा और बेटे अब्दुल्ला आजम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है. उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल बोर्ड लखनऊ के अध्यक्ष वसीम रिजवी और सुन्नी वफ्फ बोर्ड के अध्यक्ष जुफर फारुखी सहित वफ्फ बोर्ड के अधिकारियों सहित कुल नौ लोगों पर केस दर्ज हुआ है. अल्लामा जमीर नकवी की शिकायत पर अजीमनगर थाना में मुकदमा दर्ज किया गया है. धारा 420, 467, 468, 471, 447, 409, 201, 120बी और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम की धारा 3 के अंतर्गत केस दर्ज किए गए हैं.

शिकायतकर्ता जमीर नकवी ने बताया कि वक्फ संपत्ति किसी को नहीं दी जा सकती है. न गिफ्ट की जा सकती है. यह न ट्रांसफर की जा सकती है और न रजिस्ट्री की जा सकती है. इसी प्रकार शत्रु संपत्ति भी किसी को नहीं दी जा सकती. लेकिन इन लोगों ने कानून का उल्लंघन कर शत्रु संपत्ति को वक्फ संपत्ति बनाया. नकली वक्फ गठित करने में इन लोगों का हाथ रहा है.

(रिपोर्ट: विशाल सक्सेना)
Loading...

ये भी पढ़ेें:

आजम के करीबी पूर्व CO और 8 सपाइयों पर इन मामलों में FIR दर्ज

आजम खान पर वक्फ संपत्ति को हड़पने के आरोप में मुकदमा दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रामपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 23, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...