रामपुर के सभी थानों पर जब बेटियों ने संभाला मोर्चा, जानें फिर क्या हुआ

रामपुर के सभी थानों पर जब बेटियों ने संभाला मोर्चा
रामपुर के सभी थानों पर जब बेटियों ने संभाला मोर्चा

पुलिस अधीक्षक (SP) शगुन गौतम ने बताया हर थाने पर नई उम्र की बच्चियां प्रभारी बनाई गई है. अपराध होता है तो कैसे रिपोर्टिंग होती है, कैसे जनसुनवाई होती है.

  • Share this:
रामपुर. मिशन शक्ति अभियान के तहत शुक्रवार को बालिकाओं को जनपद रामपुर (Rampur) के सभी पुलिस थानों की जिम्मेदारी सौंपी गई. जहां बालिकाओं को थानाध्यक्ष और सब इंस्पेक्टर के रूप में काम करने का मौका मिला. इन लड़कियों ने अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए सड़क पर उतरकर पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम के साथ थाने के सामने बालिकाओं ने वाहन चेकिंग अभियान चलाया. छात्राओं ने कई लोगों के चालान काटे. क्योंकि दो घंटे के लिए थाने की जिम्मेदारी छात्राओं के पास थी. छात्राओं ने कहा यह हमारी जिंदगी के वह लम्हे जिन्हें कभी जिंदगी भर नहीं भूलेंगे. वहीं छात्राओं ने फौजियों के एक वाहन का भी चालान किया जिसमें कई लोग सवार थे. उन लोगों ने मास्क नहीं लगाए हुए थे. इसलिए उनका भी चालान किया गया.

एक नामित थानाध्यक्ष छात्रा प्रतिभा काला ने बताया पुलिस की कितनी मुश्किल ड्यूटी है. कितना टफ काम है इतनी धूप में काम करना और लोगों की बातें भी सुनना बहुत टफ जॉब है. आप खुद ही सोचिए कि इतनी धूप में यह लोग काम कर रहे हैं. हम लोगों की सेफ्टी के लिए ही कर रहे हैं. आपको हेलमेट लगाने के लिए कह रहे हैं तो उसमें आपकी सेफ्टी है. वहीं आपको मास्क लगाने के लिए कहा जाता है तो उसमें भी आपकी सेफ्टी है. सभी लोग इस चीज को नहीं समझ रहे हैं और चालान कटवाने में आनाकानी करते हैं. जिन लोगों ने मास्क नहीं लगाए थे उनकी तादाद ज्यादा थी. जब के मास्क लगाने में हमारी ही सेफ्टी है.

ये भी पढ़ें- UP: बाहुबली अतीक के करीबी और भू माफिया जावेद अहमद का फार्म हाउस जमींदोज



पुलिस अधीक्षक शगुन गौतम ने बताया हर थाने पर नई उम्र की बच्चियां प्रभारी बनाई गई है. और सभी को इंस्पेक्टर बनाया गया है ताकि बच्चियां समझ सके कि थाने का काम कैसे होता है. उन्होंने बताया कि थाने पर इनके लिए या महिलाओं के लिए क्या क्या फैसिलिटी है. अपराध होता है तो कैसे रिपोर्टिंग होती है, कैसे जनसुनवाई होती है.


बच्चियों को मिला डीएम-एसपी का चार्ज

एसपी ने बताया कि थाने में हमारे पास क्या-क्या साधन है, जिससे हम पब्लिक को रिलीव देते हैं. इससे पहले गुरुवार को यूपी बोर्ड की इंटरमीडिएट की जिला टॉपर इकरा बी जिलाधिकारी तो हाईस्कूल में जिला टॉप करने वाली प्रियांशी सागर ने पुलिस अधीक्षक का कार्यभार ग्रहण किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज