• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के सिर पर गिरी छत, साथ में थे राज्यमंत्री बलदेव ओलख

केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी के सिर पर गिरी छत, साथ में थे राज्यमंत्री बलदेव ओलख

नकवी पत्रकारों से बात कर रहे थे इस दौरान अचानक छत गिर गई.

नकवी पत्रकारों से बात कर रहे थे इस दौरान अचानक छत गिर गई.

UP News: रामपुर में हुनर हाट की तैयारियों का जायजा लेने गए थे नकवी, प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान गिरी छत, हालांकि इस दौरान वहां मौजूद सभी लोग बाल बाल बच गए और किसी को चोट नहीं पहुंची.

  • Share this:

रामपुर. रामपुर में अपने 4 दिवसीय दौरे पर पहुंचे केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी गुरुवार को बड़े हादसे का शिकार हो गए. वे 16 अक्टूबर से होने वाले हुनर हाट की तैयारियों को देखने के लिए राज्यमंत्री बलदेव ओलख के साथ पहुंचे थे. तैयारियों का जायजा लेने के बाद जब वे पत्रकारों से बातचीत के लिए कॉन्फ्रेंस में पहुंचे तो वहां की छत गिर गई. इस दौरान नकवी, ओलख और डीएम रविंद्र कुमार उसके नीचे थे. गनीमत ये रही कि किसी के भी इस दौरान चोट नहीं लगी और सभी बाल बाल बच गए.
गौरतलब है कि हुनर हाट का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान करेंगे, इस दौरान उनके साथ संसदीय कार्य और संस्कृति मंत्री अर्जुन राम वेदवाल भी मौजूद रहेंगे. ये हाटा 16 से 25 अक्टूबर तक चलेगा. इसमें लगभग तीस राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के दस्तकार, शिल्पकार और कारीगर हिस्सा लेंगे.

पूरे देश का हुनर
नकवी ने कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा कि इस हाट में पूरे देश के दस्तकारों, शिल्पकारों, कारीगरों और हुनर के उस्तादों को मौका और बाजार एक ही जगगह पर मिलेगा. उन्होंने बताया कि कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी से कटक तक, कोलकाता से अवध तक, रामपुर से दिल्ली तक, आगरा से पंजाब, हरियाणा तक सभी शहरों के पकवान आपको यहां पर मिलेंगे.

विश्वकर्मा वाटिका जैसा
उन्होंने कहा कि ये हाट विश्वकर्मा वाटिका जैसा है. भगवान विश्वकर्मा ने जिस विरासत को देश को दिया वो कहीं लुप्त हो गई थी. वाटिका में लोहार, बढ़ई, स्वर्णकार और सभी कारीगर अपने हुनर को लोगों के लिए रखते थे. अब ये हाट भी वैसा ही होगा. उन्होंने कहा कि आज हुनर को एक मौका मिलेगा, ये हुनर का ही जमाना है और इसके साथ ही हमारी प्राचीन विरासत को भी हम यहां पर प्रमोट और प्रेजेंट करेंगे.

केंद्रीय मंत्री नकवी ने कहा सभी राज्यों से यहां पर दस्तकार, शिल्पकार और कारीगर आने शुरू हो गए हैं. उन्होंने बताया कि इसके तुरंत बाद हुनर हाट का आयोजन देहरादून में होने वाला है, फिर लखनऊ में, दिल्ली में, हैदराबार, मैसूर, सूरत, मुंबई और पुणे में भी इसका आयोजन किया जाएगा. उन्होंने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि आजादी के 75वीं वर्षगांठ पर 7 लाख से ज्यादा शिल्पकारों को रोजगार और रोजगार के अवसर मिलें.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज