UP में 8.5 हजार मदरसों के उस्तादों को पढ़ाएंगे IIT-IIM के दिग्गज, सरकार ने बनाया यह प्लान

यूपी सरकार ने मदरसों के शिक्षकों को आईआईटी-आईआईएम के दिग्गजों से ऑनलाइन पढ़ाई की ट्रेनिंग दिलाने का प्लान बनाया है.  
Demo pic

यूपी सरकार ने मदरसों के शिक्षकों को आईआईटी-आईआईएम के दिग्गजों से ऑनलाइन पढ़ाई की ट्रेनिंग दिलाने का प्लान बनाया है. Demo pic

आईआईटी-आईआईएम (IIM) के दिग्गज मदरसों के उस्तादों को ऑनलाइन क्लास (Online Class) लेने की ट्रेनिंग देंगे. दिग्गजों की टीम में पूर्व और वर्तमान छात्रों के साथ ही रिटायर्ड टीचर भी शामिल हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 10, 2021, 10:02 AM IST
  • Share this:

लखनऊ. कोरोना (Corona)-लॉकडाउन (Lockdown) के चलते रेग्यूलर पढ़ाई का ढर्रा पटरी से उतरा हुआ है. प्राइवेट स्कूलों ने जरूर ऑनलाइन पढ़ाई शुरु करके उस माहौल को बनाए रखने की छोटी सी कोशिश की है. मदरसों (Madarsa) में भी पढ़ाई का कुछ ऐसा ही हाल है. हॉस्टल कल्चर होने के चलते यहां पढ़ाई पूरी तरह से ठप्प पड़ी हुई है. लेकिन यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने ऑनलाइन क्लास शुरु कर मदरसों की पढ़ाई को पटरी पर लाने के आदेश दिए हैं. साथ ही ऑनलाइन पढ़ाई को किस तरह आसान बनाकर बच्चों को अच्छे से समझाया जाए, इसके लिए आईआईटी (IIT)-आईआईएम से संपर्क किया गया है. आईआईटी-आईआईएम (IIM) के दिग्गज मदरसों के उस्तादों को ऑनलाइन क्लास (Online Class) लेने की ट्रेनिंग देंगे. दिग्गजों की टीम में पूर्व और वर्तमान छात्रों के साथ ही रिटायर्ड टीचर भी शामिल हैं.

गौरतलब रहे सरकार मदरसों को आधुनिक बनाने के लिए कई तरह की पहल शुरु कर चुकी है और वक्त-वक्त पर योजनाएं लागू होती रहती हैं. मदरसों को आधुनिक बनाने की कड़ी में ही विषय विशेषज्ञ टीचर भर्ती किए गए थे. मदरसों में अब गणित, विज्ञान और अंग्रेजी भी पढ़ाई जा रही है. यूपी में करीब 25 हजार टीचर तो सिर्फ विषय विशेषज्ञ वाले ही हैं. इसके अलावा अरबी पढ़ाने वाले टीचर अलग हैं. वहीं यूपी में रजिस्टर्ड मदरसों की संख्या 8.5 हजार है.

बुधवार से शुरु हो गई टीचरों की ऑनलाइन ट्रेनिंग

भाषा समिति के सदस्‍य दानिश आजाद का कहना है कि मदरसों में पढ़ाने वाले टीचरों को ट्रेनिंग देने का काम शुरु हो चुका है. बुधवार को उपनिदेशक संजय कुमार मिश्र और जगमोहन सिंह, मदरसा बोर्ड के रजिस्‍ट्रार आरपी सिंह और मदरसा शिक्षक एसोसिएशन की ओर से ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम का आयोजन किया गया.
भंगेल एलिवेटेड रोड का 94 फीसद काम पूरा, जल्द होगा चालू, सलारपुर पर जाम से मिलेगी मुक्ति

इसमें डीएमओ कानपुर वर्षा अग्रवाल, असमत मलिक प्रशिक्षक माध्‍यमिक शिक्षा परिषद, डीएमओ अमरोहा नरेश यादव और उर्दू एवं दीनीयात एक्‍सपर्ट डॉ एजाज अंजुम ने शिक्षकों को ऑनलाइन पढ़ाई की बारिकियों के बारे में बताया.




उन्‍होंने कहा कि कोरोना काल में ऑनलाइन पढ़ाई ही जारी रहगी. ऐसे में शिक्षकों को इसके लिए अपनी तैयारी करना चाहिए. दानिश आजाद ने ट्रेनिंग कार्यक्रम के दौरान यह भी बताया कि कौन-कौन सी ऑनलाइन एप के जरिए टीचर छात्रों से सीधे जुड़ सकते हैं. गौरतलब रहे कुछ दिन पहले ही मुख्‍यमंत्री ने मदरसा छात्रों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू करने के निर्देश दिए थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज