होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

सपा गठबंधन में बढ़ने लगी दरार, अब इस दल ने दी साथ छोड़ने की चेतावनी

सपा गठबंधन में बढ़ने लगी दरार, अब इस दल ने दी साथ छोड़ने की चेतावनी

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की हार के बाद अब सपा के सतरंगी गठबंधन (SP Alliance) में खटास दिखने लगी है.

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की हार के बाद अब सपा के सतरंगी गठबंधन (SP Alliance) में खटास दिखने लगी है.

यूपी चुनावों में सपा की हार के बाद पार्टी और गठबंधन के नेताओं की ओर से बदस्तूर जारी बयानबाजी को लेकर समाजवादी पार्टी ने सोमवार शाम पार्टी नेताओं को मीडिया में कोई बयानबाजी न करने की सलाह दी. हालांकि सपा की इस सलाह का फिलहाल तो ज्यादा असर होता नहीं दिख रहा.

अधिक पढ़ें ...

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) की हार के बाद अब सपा के सतरंगी गठबंधन (SP Alliance) में खटास दिखने लगी है. सपा गठबंधन के घटक महान दल के प्रमुख केशव देव मौर्य ने तो अब अलग राह पकड़ने की बात तक छेड़ दी है. उन्होंने साफ कहा कि सपा गठबंधन में अगर उन्हें अहमियत नहीं दी जाएगी तो वह किसी अन्य गठबंधन में जाने पर भी विचार करेंगे.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केशव देव मौर्य ने चुनाव में उनका सही उपयोग नहीं करने का आरोप लगाते हुए कहा कि दूसरे दलों के मुताबले उनकी पार्टी को गठबंधन की ओर से बेहद कम सीटें दी गईं. उन्होंने कहा, ‘गठबंधन में हमें सम्मान नहीं दिया गया और महज 2 सीटें दी गईं, जबकि रालोद, अपना दल (कमेरावादी) को हमसे ज्यादा सीटें मिलीं.’ मौर्य ने इसके साथ ही चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर उन्हें आगे तव्वजो नहीं दी गई तो वह किसी अन्य पार्टी के साथ जाने पर भी विचार करेंगे.

ये भी पढ़ें- हरदोई में दबंगों ने पुलिसवाले को बीच सड़क पर पीटा, फाड़ डाली वर्दी- Video वायरल

मौर्य ने चुनाव से ठीक पहले सपा में शामिल हुए स्वामी प्रसाद मौर्य पर भी प्रहार किया और कहा कि बीजेपी ने उन्हें एक योजना के तहत सपा में जाने दिया था. केशव देव इससे पहले भी स्वामी प्रसाद मौर्य पर इशारों-इशारों में निशाना साधते हुए कहा था कि जिन नेताओं के पास अपनी सीट बचाने लायक भी जनाधार नहीं था वह बड़े-बड़े दावे कर रहे थे. उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन के कुछ नेता खुद तो अति-आत्मविश्वास में थे ही, अखिलेश यादव को भी अति आत्मविश्वास में रखा.

यूपी चुनावों में सपा की हार के बाद पार्टी और गठबंधन के नेताओं की ओर से बदस्तूर जारी बयानबाजी को लेकर समाजवादी पार्टी ने सोमवार शाम पार्टी नेताओं को मीडिया में कोई बयानबाजी न करने की सलाह दी. हालांकि सपा की इस सलाह का फिलहाल तो ज्यादा असर होता नहीं दिख रहा.

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर