जल संरक्षण: पिता के कहने पर 9 साल में 14 गांव में खुदवा डाले तालाब

रिंकू शर्मा ने नौ साल पहले गन्ना विभाग से रिटायर अपने पिता के कहने पर जल संरक्षण के लिए काम करना शुरू किया था.

Prashant | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 7, 2019, 6:53 PM IST
Prashant | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 7, 2019, 6:53 PM IST
अलीगढ़ से 50 किलोमीटर दूर चंडौस इलाके का रहने वाला 'जल पुरुष' के नाम से मशहूर युवक पिछले 9 सालों से जल संरक्षण में अहम भूमिका निभा रहा है. वैसे तो इस वक्‍त देश का बड़ा तबका केवल सेव वॉटर के स्लोगन को सोशल मीडिया पर शेयर करने में व्यस्त है, लेकिन जल पुरुष पानी की एक-एक बूंद को देश के लिए सहेज रहा है.

अलीगढ़ के चंडौस क्षेत्र के रहने वाले रिंकू शर्मा असल मायने में धरती और लोगों की प्यास बुझाने में लगे हुए हैं. वह न सिर्फ गांव-गांव घूम कर जल संरक्षण का पाठ पढ़ा रहे हैं, बल्कि तमाम तरीकों से पानी की बूंद-बूंद को सहेज भी रहे हैं.

पिता के कहने पर शुरू किया अभियान
रिंकू शर्मा ने आज से नौ साल पहले गन्ना विभाग से रिटायर अपने पिता के कहने पर जल संरक्षण के लिए काम करना शुरू किया था. पिछले नौ सालों में उन्होंने इस मुहिम में इलाके के कई लोगों को अपने साथ जोड़ा और उनके सहयोग से अब तक 14 गांवों में 24 तालाब खुदवा चुके हैं. पानी की बर्बादी और गिरते जल स्तर से चिंतित होकर रिंकू ने 2010 में इस मुहिम की शुरुआत की थी. जल संरक्षण के लिए काम करने की ठान लेने के बाद गांव-गांव जाकर लोगों को पानी का महत्व बताना और सभी के सहयोग से तालाबों का सौंदर्यीकरण और नए तालाबों के निर्माण के लिए प्रेरित करना उनकी दिनचर्या बन गई. इस काम में खुद के खर्चे के अलावा प्रशासन और ग्रामीणों से भी सहयोग लिया गया. वहीं, कई स्थानों पर मनरेगा के सहयोग से काम हुआ.

तालाब और पोखर यदि सही जगहों पर हो तो गांव का पानी बेकार नहीं जाएगा. इसके अलावा बरसात का पानी भी एकत्रित हो पाएगा. यही नहीं, इससे भूगर्भ जल स्तर में भी सुधार हो सकेगा.

यूं मिली कामयाबी...
प्रयासों से प्रेरित होकर गांव नगला पदम में सन 2017-18 में 6 तालाब, टीकरी भवापुर में 2 और बघियाना में 1 तालाब खुदवाए गए. इसके अलावा अमृतपुर, गंगई, सिद्धनगर, नगला गूलर और जहराना समेत 14 ग्राम पंचायत और माजरों में निजी और सरकारी जमीनों पर तालाब खुदवाए जा चुके हैं. मजेदार बात ये है कि जिन गांव में तालाब पोखर खुदवा कर जल संचय किया गया वहां जल स्तर 3 से 4 फ़ीट तक ऊपर आ चुका है. इस पहल से गांव और आसपास के लोग इतने प्रभावित हैं कि वो खुद उनके साथ मिल कर काम करते हैं. लोग इस मुहिम के लिए रिंकू शर्मा की सराहना करते नहीं थकते हैं, स्वयं के खर्चे व लोगों के सहयोग से तालाब खुदवाए हैं. जल संचय करने में उनका यह बहुत ही सराहनीय योगदान है.
Loading...

ये भी पढ़ें-

BJP विधायक सुरेंद्र सिंह ने सरकारी डॉक्टरों बताया राक्षस, पत्रकारों पर भी भड़के

यूपी में बदले गए 6 जिलों के पुलिस कप्तान, 22 IPS अफसरों के तबादले
First published: July 7, 2019, 6:24 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...