भीम आर्मी के चन्द्रशेखर का फोटो लगाया तो दर्ज हो गया मुकदमा

ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 14, 2017, 11:50 PM IST
भीम आर्मी के चन्द्रशेखर का फोटो लगाया तो दर्ज हो गया मुकदमा
इसी पोस्टर को लेकर हुआ विवाद.
ETV UP/Uttarakhand
Updated: November 14, 2017, 11:50 PM IST
सहारनपुर के नकुड थाना क्षेत्र के अम्बहेटा पीर कस्बे में कांग्रेस प्रत्याशी को भीम आर्मी के संस्थापक चन्द्रशेखर उर्फ रावण का फोटो अपने पोस्टर पर लगाना भारी पड़ गया. भीम आर्मी के रामपुर विधानसभा अध्यक्ष ने कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा दिया है.

दरअसल, इन दिनों निकाय चुनाव की सरगर्मियां तेज़ है. हर प्रत्याशी अपने वोटर को लुभाने में लगा है. ऐसे में कांग्रेस के अंबेहटा पीर क्षेत्र के नगर पंचायत अध्यक्ष पद के प्रत्याशी चौधरी इनाम शाकिर ने दलित वोटरों को लुभाने के वास्ते पोस्टर में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आज़ाद उर्फ रावण की फोटो भी लगाई गई है.

जैसे ही ये जानकारी भीम आर्मी के विधानसभा प्रभारी रोहित राज गौतम को हुई तो उन्होंने थाना नकुड़ में तहरीर दी. उनकी तहरीर पर नकुड़ थाना पुलिस ने कांग्रेस के अम्बेहटा नगर पंचायत चेयरमैन प्रत्याशी चौधरी इनाम शाकिर के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके पूरे प्रकरण की जांच शुरू कर दी है.

दरअसल, इस निकाय चुनाव से पहले भीम आर्मी प्रमुख चंद्रशेखर उर्फ रावण के समर्थन में कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष इमरान मसूद ने कई बार आवाज उठाई थी. चंद्रशेखर की हालत बिगड़ने पर वे उसे देखने के लिए अस्पताल भी पहुंचे.

इतना ही नहीं चंद्रशेखर को जब डलहौजी से एसटीएफ ने गिरफ्तार किया तो उसी दिन रावण की मां और भाई के अलावा अन्य कार्यकर्ता इमरान मसूद के आवास पर पहुंचे थे और यहां आयोजित एक प्रेसवार्ता में इमरान मसूद ने यह मांग की थी कि चंद्रशेखर के साथ पुलिस कोई दुर्व्यहार ना करे. साथ ही चेतावनी भी दी गई थी कि यदि ऐसा हुआ तो कांग्रेस चंद्रशेखर और दलित समाज की लड़ाई लड़ेगी.

इतना ही नहीं शब्बीरपुर प्रकरण के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी दलित परिवारों से मिलने के लिए सहारनपुर आए थे. यह अलग बात है कि प्रशासन ने उन्हें शब्बीरपुर तक नहीं जाने दिया था. ऐसे में अब कांग्रेस ने सहारनपुर में निकाय चुनाव में दलित वोटों के लिए भीम आर्मी का सहारा लेना चाहा तो भीम आर्मी सामने आ गई और कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ नकुड़ थाने में तहरीर दे दी.
First published: November 14, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर