होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /सहारनपुर में माहौल खराब करने का प्रयास, कुछ लोगों ने जबरदस्ती कटवाई युवक की दाढ़ी-मूंछ

सहारनपुर में माहौल खराब करने का प्रयास, कुछ लोगों ने जबरदस्ती कटवाई युवक की दाढ़ी-मूंछ

पुलिस मामले की जांच कर रही है. (सांकेतिक चित्र)

पुलिस मामले की जांच कर रही है. (सांकेतिक चित्र)

UP News: उत्तर प्रदेश के सहारनपुर (Saharanpur) में एक बार फिर से माहौल खराब करने की कोशिश की गई है. पुलिस ने मामले में ...अधिक पढ़ें

    सहारनपुर. उत्तर प्रदेश के सहारनपुर (Saharanpur) में एक बार फिर से माहौल खराब करने की कोशिश की गई है. थाना बडगांव के गांव शिमलाना मे एक युवक का दाढ़ी मूंछ रखना कुछ खुरापाती युवकों को नागवार लगा. उन्होंने युवक को जबरदस्ती पकड़कर उसकी मूंछ दाढ़ी कटवा दी. इतना ही नहीं इस घटनाक्रम का वीडियो बनाकर सोशल मिडिया पर वायरल भी कर दिया गया. सोशल मीडिया पर विडियो वायरल होते ही भीम आर्मी के कार्यकर्ताओं ने पीडि़त युवक के साथ खुरापाती युवकों के खिलाफ एससी एसटी एक्ट मे मामला दर्ज करने की मांग करते हुऐ थाने पर तहरीर दी है.

    पुलिस ने तहरीर मिलते ही खुरापाती युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए उनके घरों में दबिश दी जा रही है. सहारनपुर देहात के एसपी अतुल शर्मा का कहना है कि खुरापात कर माहौल बिगाड़ने वाले के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जा रही है. युवक की तहरीर पर मुकदमा पंजीकृत कर लिया गया है. जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा. इसके लिए टीम बनाकर जांच की जा रही है. उनके घरों में भी उनकी तलाश की गई है. जान पहचान वालों और रिश्तेदारों के यहां भी पूछताछ का सिलसिला जारी है.

    गाजियाबाद में भी हुआ केस
    बता दें कि बीते 15 जून को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक बुजुर्ग व्यक्ति के साथ मारपीट का वीडियो सामने आया था, जिसके बाद कई मीडिया और ट्विटर हैंडल ने इसे ''धार्मिक रंग' का नाम दे दिया था. बता दें कि वायरल वीडियो में आवाज नहीं थी, उसमें सिर्फ एक बुजुर्ग व्यक्ति अब्दुल समद सैफी के साथ मारपीट की जा रही थी और उनकी दाढ़ी को अज्ञात व्यक्तियों के द्वारा जबरन कटवाई जा रही थी. ट्विटर ने इस बात का दावा किया गया था कि बुजुर्ग पर बदमाशों ने इसलिए हमला किया, क्योंकि उन्होंने कथित तौर पर जय श्री राम और वंदे मातरम के नारे लगाने से मना कर दिया था. पुलिस मामले की जांच की और दावा किया कि इस मामले में धार्मिक एंगल नहीं है.

    Tags: Saharanpur news, Uttar pradesh news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें