लाइव टीवी

तिहाड़ जेल प्रशासन ने चंद्रशेखर को वाल्‍मीकि जयंती मनाने से रोका, भीम आर्मी ने केजरीवाल को दी चेतावनी

News18Hindi
Updated: October 13, 2019, 8:34 PM IST
तिहाड़ जेल प्रशासन ने चंद्रशेखर को वाल्‍मीकि जयंती मनाने से रोका, भीम आर्मी ने केजरीवाल को दी चेतावनी
भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (फाइल फोटो)

वाल्‍मीकि जयंती (Valmiki Jayanti) मनाने को लेकर अपील करते हुए कहा गया है, ‘माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी (Delhi CM Arvind Kejirwal) मानव के मौलिका अधिकारों का हनन न करें.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2019, 8:34 PM IST
  • Share this:
सहारनपुर. भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर आजाद (Bhim Army chief Chandrashekhar Azad) ने रविवार को तिहाड़ जेल (Tihar Jail) प्रशासन पर आरोप लगाया है कि उन्‍हें वाल्‍मीकि जयंती (Valmiki Jayanti) नहीं मनाने दिया है. चंद्रशेखर ने अपने साथियों के जरिए यह संदेश सोशल मीडिया (social Media) पर पोस्ट करवाया है. उन्होंने दिल्ली की केजरीवाल सरकार (Arvind Kejriwal) को भी घेरा और मदद मांगी है. इसके पहले चंद्रशेखर के ट्विटर हैंडल से किए गए ट्वीट में लिखा गया है, ‘तिहाड़ जेल की व्यवस्थाएं दिल्ली सरकार के अंतर्गत आती है और यहां हमें वाल्मीकि जयंती मनाने से रोका जा रहा है.

चंद्रशेखर के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, 'जेल में हमारे सभी लोग सुबह से भूखे हैं. बिना जयंती मनायें खाना नहीं खाएंगे. केजरीवाल जी जल्दी व्यवस्था कराएं वरना दिल्ली भीम आर्मी आपका घर घेरने आ रही है.’ इस ट्वीट में दिल्ली के सीएम को टैग भी किया गया है. वाल्‍मीकि जयंती नहीं मनाने दिए जाने का आरोप लगाकर ये पूछा गया है कि जब होली, दीवाली मनाई जा सकती है, तो उनके साथ ही भेदभाव क्यों हो रहा है. दिल्ली सरकार को घेरते हुए सूबे के सीएम से सवाल किया गया है कि क्या केजरीवाल सरकार महर्षि वाल्मीकि को नहीं मानती?



वाल्‍मीकि जयंती मनाने को लेकर अपील करते हुए कहा गया है, ‘माननीय मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी मानव के मौलिका अधिकारों का हनन न करें. आपसे हमें आशा है कि आप भीम आर्मी चीफ चन्द्रशेखर आजाद को जेल में अन्य त्यौहारों की तरह हमारे पूर्वज महाकाव्य #रामायण रचियता #महर्षि_वाल्मीकि जी की जयंती मनाने दी जाये.’
Loading...




बता दें कि अगस्त महीने में दिल्ली के तुगलकाबाद में स्थित संत रविदास के मंदिर को दिल्ली विकास प्राधिकरण (DDA) ने गिरा दिया था. दलितों की अस्था के प्रतीक माने जाने वाले इस मंदिर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गिराया गया था. मंदिर वहीं बनाए जाने की मांग को लेकर दिल्ली में हुए एक प्रदर्शन के बाद भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर समेत 94 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया था और वो तभी से तिहाड़ में बंद हैं.

ये भी पढ़ें:

लव मैरिज करने वाली साक्षी मिश्रा को फिर मिली धमकी, बाहुबली हरिशंकर तिवारी से बताया रिश्ता

वक्‍फ की जमीन के लिए राहुल गांधी ने मुझसे की थी सिफारिश: वसीम रिजवी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहारनपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 7:28 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...