होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /क्या आपका सोना असली है? यूपी में खूब चल रहा फेक हॉलमार्क का खेल, पढ़ें पूरी खबर

क्या आपका सोना असली है? यूपी में खूब चल रहा फेक हॉलमार्क का खेल, पढ़ें पूरी खबर

सहारनपुर में मिलावटी सोना पर 24 कैरेट गोल्ड का हॉलमार्क लगाया जा रहा था.

सहारनपुर में मिलावटी सोना पर 24 कैरेट गोल्ड का हॉलमार्क लगाया जा रहा था.

Hallmark Gold: सहारनपुर में फर्जी सोने की ज्वैलरी पर 24 कैरेट सोने का हॉलमार्क लगाए जाने वाले रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है. ...अधिक पढ़ें

सहारनपुर. उत्तरप्रदेश के सहारनपुर जिले से मिलावटी सोना बेचे जाने के एक बड़े मामले का खुलासा हुआ है. दरअसल सहारनपुर में मिलावटी सोना पर 24 कैरेट गोल्ड का हॉलमार्क लगाया जा रहा था. इस बारे में जानकारी मिलते ही भारतीय मानक ब्यूरो की टीम ने कार्रवाई करते हुए एक सेंटर को सील कर दिया है. एक अन्य सेंटर का लाइसेंस रद्द कर दिया है. मिली जानकारी के अनुसार सहारनपुर में सोने पर हॉलमार्क लगाने के लिए चार सेंटरों को अनुमति दी गयी थी, जिसमें एक अनुमति श्री महालक्ष्मी फर्म को भी दी थी. यह फर्म मोनू वर्मा की है. बाद में भारतीय मानक ब्यूरो ने तीन सेंटरों को बंद कर दिया था.

मिली जानकारी के अनुसार बीते दो माह तक रजत की फर्म पर सेंटर चल रहा था, लेकिन मोनू ने दस्तावेजों में यह काम बंद कर दिया था. वह मिलावटी सोने पर हॉलमार्क लगाने का काम कर रहा था.  उसके पास कई शहरों के सर्राफ आकर मिलावटी सोने पर हॉलमार्क लगवाकर उसे 24 कैरेट का बनवा रहे थे, जिसकी जानकारी मिलने पर भारतीय मानक ब्यूरो ने यहां आकर छापे की कार्रवाई की है. टीम ने कार्रवाई कर मोनू की फर्म को सीज कर दिया. टीम ने रजत की हॉलमार्क लगाने फर्म की भी जांच करते हुए उसे भी सीज कर दिया है.

दूसरे राज्यों तक भी फैला है नेटवर्क 

इससे भी अधिक हैरान कर देने वाली बात यह है कि इस हॉलमार्क सेंटर पर केवल सहारनपुर ही नहीं बल्कि पड़ोसी राज्य उत्तराखंड के देहरादून हरिद्वार समेत उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, शामली, मुरादाबाद, अलीगढ़ बिजनौर और गाजियाबाद समेत हरियाणा राज्य के यमुनानगर के सर्राफ भी आ रहे थे. इन सभी जिलों के सर्राफ यहां से मिलावटी और फर्जी सोने पर 24 कैरेट सोने का हॉलमार्क लगवा कर ले जा रहे थे. इस ज्वेलरी को बाजार में बेचा जा रहा था.

मशीन और कंप्यूटर की हार्ड डिस्क समेत अन्य कागजात जब्त 

भारतीय मानक ब्यूरो के निदेशक विक्रांत ने इस बात की जानकारी हुई तो वह एक टीम लेकर सहारनपुर पहुंचे और खामी पाए जाने पर सेंटर को सील कर दिया. सेंटर के अंदर मौजूद मशीन और कंप्यूटर की हार्ड डिस्क समेत अन्य कागजात जब्त कर लिए गए हैं. इस कार्रवाई के बाद टीम दूसरे सेंटर पर पहुंची. दूसरा सेंटर रजत नाम के सर्राफ संचालित कर रहे थे. प्राथमिक जांच पड़ताल में इस सेंटर पर भी खामियां सामने आई जिसके बाद रजत सेंटर का लाइसेंस निरस्त कर दिया गया.

भारतीय मानक ब्यूरो ने की कार्रवाई की पुष्टि 

भारतीय मानक ब्यूरो के सहायक निदेशक मोहित कुमार ने इस कार्रवाई इसकी पुष्टि की है. उन्होंने बताया कि सहारनपुर के लक्ष्मी बाजार में श्री महालक्ष्मी नाम से एक सेंटर को लाइसेंस दिया गया था. शिकायत मिली थी कि यहां पर नकली और मिलावटी सोने को 22 और 24 कैरेट का होल मार्क दिया जा रहा है. इसी सूचना पर टीम पहुंची थी. प्राथमिक जांच पड़ताल में आरोप सही पाए गए. इस पर सेंटर के अंदर रखा सभी सामान और गहने जब्त कर लिए गए हैं. इसके साथ-साथ कंप्यूटर और अन्य दस्तावेजों को भी जब्त कर लिया गया है. भारतीय मानक ब्यूरो की ओर से इस मामले में मुकदमा भी दर्ज कराया जा रहा है.

Tags: 24 carat gold, Saharanpur news, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें