लाइव टीवी

NRC, कश्मीर, बाबरी मस्जिद के मुद्दे पर देवबंद में होनी थी चर्चा, जमीयत को प्रशासन ने नहीं दी अनुमति

News18Hindi
Updated: October 13, 2019, 5:26 PM IST
NRC, कश्मीर, बाबरी मस्जिद के मुद्दे पर देवबंद में होनी थी चर्चा, जमीयत को प्रशासन ने नहीं दी अनुमति
अरशद मदनी गुट की ओर से इस कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा था. (File Photo)

हाल ही में आरएसएस (RSS) प्रमुख मोहन भागवत (Mohan Bhagwat) और मौलाना अरशद मदनी (Molana Arshad Madni) की मुलाकात भी खासी चर्चाओं में रही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 13, 2019, 5:26 PM IST
  • Share this:
देवबंद (सहारनपुर). 19-20 अक्टूबर को देवबंद (Deoband) में एक बड़े कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा था. कार्यक्रम का आयोजन हर साल जमीयत उलेमा-ए-हिन्द (Jamiat Ulema E Hind) (मौलाना अरशद मदनी गुट) की ओर से किया जाता है. कार्यक्रम में मॉब लिचिंग (Mob Lynching), एनआरसी (NRC), कश्मीर (Kashmir) के हालात और बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) मुद्दे पर चर्चा होनी थी. चर्चा में देशभर से हजारों लोगों को भाग लेना था. लेकिन कार्यक्रम को देवबंद प्रशासन ने अनुमति देने से इनकार कर दिया है. कार्यक्रम के अब दिल्ली (Delhi) में होने को लेकर उम्मीद जताई जा रही है.

ये था इस कार्यक्रम का प्लान
जमीयत उलेमा-ए-हिन्द के प्रेस सचिव फजलुर्रहमान कासमी ने बताया, 'देवबंद में ये जलसा हर साल आयोजित किया जाता है. इस जलसे में जमीयत की सालाना मीटिंग होने के साथ ही एक आम जलसा भी होता है. इस जलसे में करीब एक लाख लोग हिस्सा लेते हैं. जलसे में शामिल होने के लिए देशभर काेने-काेने से लोग आते हैं. जलसा दो दिन तक चलता है. जलसा देवबंद के मौलाना मदनी मेमोरियल पब्लिक स्कूल में होना था. जलसे के दौरान देश के मौजूदा हालात मॉब लिचिंग, एनआरसी, कश्मीर के हालात और बाबरी मस्जिद मुद्दे पर चर्चा होनी थी.'

कार्यक्रम के लिए ये कहकर मना कर दी देवबंद प्रशासन ने

फजलुर्रहमान कासमी ने बताया, 'जमीयत की ओर से कई दिन पहले देवबंद प्रशासन को कार्यक्रम की अनुमति के लिए एक आवेदन भेज दिया गया था. कई दिन तो अनुमति देने के लिए आश्वासन दिया गया कि सुबह आइए या शाम को आइए. लेकिन 9 अक्टूबर का साफ मना कर दिया गया कि इस कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी जा सकती है. इसके पीछे की वजह बताते हुए प्रशासन ने कहा कि गंगोह विधानसभा में उपचुनाव की तैयारी चल रही है. इसके चलते जिलेभर में धारा 144 लगी हुई. ऐसे में आपको अनुमति नहीं दी जा सकती है.'

अब दिल्ली में कार्यक्रम को कराने की है तैयारी
जमीयत के प्रेस सचिव मौलाना फजलुर्रहमान कासमी का कहना है, '18 अक्टूबर को जमीयत की दिल्ली में बोर्ड मीटिंग होनी है. इसके साथ ही ये उम्मीद भी जताई जा रही है कि अगर दिल्ली में कार्यक्रम की अनुमति मिल जाती है वो वहां इसका आयोजन कराया जा सकता है.'
Loading...

देवबंद के अधिकारी ये बोले
वहीं इस बारे में देवबंद के एसडीएम राकेश कुमार का कहना है कि अभी हमारी ओर से कोई इनकार नहीं किया गया है. पुलिस रिपोर्ट आना बाकी है. दूसरे जिले में उपचुनाव के चलते धारा 144 लगी हुई है इसलिए थोड़ा सा मुश्किल है.

ये भी पढ़ें-

योगी आदित्यनाथ ने TikTok स्टार सोनाली फोगाट का आदमपुर से जोड़ा रिश्ता, कही ये बात

अयोध्या विवाद पर मौलाना रशीद फिरंगी का बयान- कभी दूसरा पक्ष जमीन देने की बात क्यों नहीं कहता

किसानों के प्रदेश में बीजेपी की खेती और युवाओं पर नजर, संकल्प पत्र में सौगातों की बारिश

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहारनपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 4:10 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...