लाइव टीवी

जनसंख्या नियंत्रण पर बने ऐसा कानून, जो ना माने तो खत्म हो उसके वोटिंग राइट- गिरिराज सिंह
Saharanpur News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: February 11, 2020, 8:02 PM IST
जनसंख्या नियंत्रण पर बने ऐसा कानून, जो ना माने तो खत्म हो उसके वोटिंग राइट- गिरिराज सिंह
गिरिराज सिंह ने फिर दिया विवादित बयान

'साफ जाहिर हो रहा है वहां बच्चों में जहर भरा जा रहा है. महिलाओं के अंदर जहर भरा जा रहा है, एक तरफ से खिलाफत आंदोलन हो रहा है'.

  • Share this:
सहारनपुर. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह (Giriraj Singh) ने सहारनपुर (Saharanpur) में बोला कि जनसंख्या (Population) पर ऐसा कानून आना चाहिए कि जो ना माने, उस का वोटिंग का अधिकार खत्म कर देना चाहिए. चाहे हिंदू हो या मुस्लिम सिख हो या इसाई. बौध हो या जैन, सब पर समान रूप से कानून लागू होना चाहिए और जो कानून नहीं मानता उन पर कानूनी कार्रवाई हो. आर्थिक कार्रवाई हो अगर यह नहीं हुआ तो गजवा ए हिंद के मंसूबा लिए जो आंदोलन चल रहा है.

जल्द लागू हो जनसंख्या नियंत्रण कानून
जनसंख्या समाधान फाउंडेशन एवं हिंदू जागरण मंच पर सीएए के समर्थन कार्यक्रम में केंद्रीय पशुधन मंत्री गिरिराज सिंह सहारनपुर पहुंचे थे. गिरिराज सिंह ने सहारनपुर पहुंचकर जनमंच सभागार से जनता को संबोधित करते हुए जनसंख्या नियंत्रण कानून की मांग के समर्थन में लोगों को समझाया और बताया कि यह क्या है. साथ ही उन्होंने जनसंख्या नियंत्रण पर बोलते हुए कहा कि देश के अंदर जनसंख्या नियंत्रण जल्द से जल्द लागू होना चाहिए. अन्यथा देश का विकास नहीं हो पाएगा. अगर देश का विकास करना है तो जनसंख्या नियंत्रण कानून बहुत जल्द से जल्द लाना होगा साथ ही.

गिरिराज सिंह ने ये कहा...

गिरिराज सिंह ने कहा कि सीएए के खिलाफ जो भी लोग प्रदर्शन कर रहे हैं वह गलत है. उससे भारतीय की नागरिक को कोई भी खतरा नहीं है, लेकिन पता नहीं क्यों प्रदर्शन करने वाले लोग यह बात समझने को तैयार नहीं है. साथ ही उन्होंने कहा कि जब भारत का बंटवारा हुआ था तो धर्म के आधार पर बंटवारा किया गया था. अगर उस समय धर्म के आधार पर बंटवारा नहीं किया जाता तो आज पाकिस्तान में सारे मुस्लिम और हिंदुस्तान में सारे हिन्दू होते. साथ ही मंत्री गिरिराज सिंह ने दिल्ली में हो रहे सीएए के प्रदर्शन पर कहा है कि कोई कहता है कि भारत इस्लामिक देश बनेगा तो कोई कहता है कि नागरिकता संशोधन बिल गलत लाया गया है, जबकि भारत में रहने वाले किसी भी हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई नागरिक की नागरिकता को कोई भी कानून से कोई भी खतरा नहीं है.

नहीं तो भारत बन जाएगा इस्लामिक राष्ट्र
वहीं केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने देवबन्द में हो रहे सीएए कानून को लेकर प्रदर्शन पर कहा है कि उन्होंने पहले ही कहा था कि देवबन्द आतंकवाद की गंगोत्री है. दुनिया में जितने भी बड़े-बड़े आतंकवाद पैदा हुए हैं. वो चाहे हाफिज सईद का मामला हो ये सारे के सारे लोग यहीं से निकलते हैं. यह सीएए के विरोध में नहीं है. यह भारत के विरोध में है यह एक तरह से खिलाफत आंदोलन है, क्योंकि अगर नागरिकता संशोधन बिल का प्रदर्शन होता तो शाहीन बाग से आवाज नहीं उठती सरजील इमाम नहीं कहते हम भारत को आसाम से काट देंगे और चिकन नेट को बना करके भारत को धीरे-धीरे कमजोर कर देंगे और भारत में इस्लामिक राष्ट्र बनाएंगे.देश में एक तरफ से खिलाफत आंदोलन हो रहा है
वहां से नहीं बोलते कि हमारी कौम से जो टकराया है वह बर्बाद हो गया है. वहां से अफजल गुरु के नारे नहीं लगते वहां से याकूब मेमन के नारे नहीं लगते, इससे साफ जाहिर हो रहा है वहां बच्चों में जहर भरा जा रहा है. महिलाओं के अंदर जहर भरा जा रहा है, एक तरफ से खिलाफत आंदोलन हो रहा है कि देश में जहां-जहां उनकी आबादी है वहां यह खिलाफत आंदोलन के रूप अलग-अलग है लेकिन एक ही है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहारनपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 11, 2020, 8:02 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर