बुलंदशहर हिंसा: शहीद इंस्पेक्टर के परिवार को एक दिन की सैलरी देंगे पुलिसकर्मी

इससे पहले मथुरा के पुलिसकर्मियों ने भी अपनी एक दिन की सैलरी देने का ऐलान किया है. बता दें कि सुबोध कुमार सिंह कुछ महीने पहले तक मथुरा के वृन्दावन कोतवाली सहित कई थानों में रहे थे.

News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2018, 10:31 AM IST
बुलंदशहर हिंसा: शहीद इंस्पेक्टर के परिवार को एक दिन की सैलरी देंगे पुलिसकर्मी
पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह (फाइल)
News18 Uttar Pradesh
Updated: December 8, 2018, 10:31 AM IST
बुलंदशहर के स्याना में गोकशी की घटना को लेकर हुई हिंसा में मारे गए शहीद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह के परिजनों को आर्थिक सहायता देने के लिए सहारनपुर के पुलिसकर्मियों ने अपने एक दिन का सैलरी देने की घोषणा की है. सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी ने बताया कि सुबोध कुमार सिह के परिजनों के लिये सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया है.

इससे पहले मथुरा के पुलिसकर्मियों ने भी अपनी एक दिन की सैलरी देने का ऐलान किया है. बता दें कि सुबोध कुमार सिंह कुछ महीने पहले तक मथुरा के वृन्दावन कोतवाली सहित कई थानों में रहे थे. स्थानीय पुलिस अधिकारियों के अनुसार वह बहुत जांबाज और मिलनसार अधिकारी थे.

मुख्य आरोपी अभी भी पकड़ से दूर

इस मामले में पुलिस ने अभी तक चार लोगों को गिरफ्तार किया है. हिंसा के बाद 27 नामजद और 60 अज्ञात के खिलाफ दो एफआईआर दर्ज की गई है. लेकिन बड़ा सवाल यह है कि जो मुख्य आरोपी हैं, वह अभी भी फरार हैं. हालांकि पूरे मामले में पुलिस के आला अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं उनका कहना है कि आरोपियों की तलाश के लिए टीमें बना दी गई हैं. उन्हें पकड़ने के लिए जगह-जगह दबिश दी जा रही है.

बता दें कि बुलंदशहर के स्याना में कथित रूप से गोकशी के शक में 3 दिसंबर को काफी हंगामा हुआ था. इस दौरान पुलिस पर पथराव और गोलीबारी की गई थी. भीड़ की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और सुमित नाम के एक युवक की मौत हो गई थी.

ये भी पढ़ें:

नोएडा: नशीला पदार्थ खिलाकर बाप ने बेटी को किया चौथी बार प्रेग्नेंट
Loading...

बुलंदशहर हिंसा: घटना पर प्रधानों ने उठाया सवाल, आखिर इतनी भीड़ कहा से जुटी!

प्रयागराज: सड़क हादसे में दारोगा ने गंवाई जान, कुंभ मेले में थी तैनाती

आज की सुर्खियां: बुलंदशहर हिंसा मामले में DGP ने सीएम को सौंपी रिपोर्ट, जीतू फौजी कश्मीर से गिरफ्तार
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर