Assembly Banner 2021

देवबंद दारुल उलूम का फतवा- हालात और मजबूरी के तहत मस्जिदों में सैनिटाइजर का प्रयोग सही

दारुल उलूम देवबंद ने पलटा बरेलवी उलेमा का फतवा (सांकेतिक तस्वीर)

दारुल उलूम देवबंद ने पलटा बरेलवी उलेमा का फतवा (सांकेतिक तस्वीर)

सवालों के जवाब में संस्था ने जारी फतवे में साफ कर दिया है कि अल्कोहल की अलग-अलग किस्म होती हैं. इसलिए मौजूदा वक्त में इस्तेमाल किए जा रहे सैनिटाइजर के इस्तेमाल से काेई गुरेज नहीं है.

  • Share this:
सहारनपुर. इस्लामिक धार्मिक स्थलों में अल्कोहल वाले सैनिटाइजर (Alcohol Based Sanitizer) के इस्तेमाल को लेकर चल रही बहस पर इस्लामिक शिक्षण संस्था दारुल उलूम देवबंद (Darul Uloom Deoband) के फतवे के बाद विराम लगने की गुंजाइश बनती दिखाई दे रही है. दारुल उलूम के फतवा (Fatwa) विभाग से इस मामले काे लेकर देश-विदेश से सवाल पूछे जा रहे थे. इन सवालों के जवाब में संस्था ने जारी फतवे में साफ कर दिया है कि अल्कोहल की अलग-अलग किस्म होती हैं. इसलिए मौजूदा वक्त में इस्तेमाल किए जा रहे सैनिटाइजर के इस्तेमाल से काेई गुरेज नहीं है.

दरअसल बरेली के दरगाह आला हजरत की ओर से बयान दिया गया था कि अल्कोहल का इस्तेमाल गैर इस्लामिक है. इसलिए मस्जिदों में इसका इस्तेमाल नहीं हाे सकता. बरेलवी उलेमा की इस राय काे लेकर देश ही नहीं दुनियाभर के लाेगाें में संशय की स्थिति बन गई थी. इसी मामले काे लेकर देवबंद दारुल उलूम के इफ्ता विभाग की खंडपीठ ने कर्नाटक के बेंगलुरु निवासी समेत पाकिस्तान के लोगों की ओर से पूछे गए सवाल पर जारी फतवे में सभी शंकाओं का समाधान किया है.

इफ्ता विभाग की खंडपीठ ने दरगाह आला हजरत के फतवे को पलटते हुए कहा है कि, दवाओं और सैनिटाइजर में इस्तेमाल होने वाला अल्कोहल, गन्ने के रस एवं कई तरह की सब्जियों सहित पेट्रोल और कोयले सहित अन्य कैमिकल से बनाया जाता है. इसलिए इस तरह के अल्कोहल युक्त सैनिटाइजर को इस्तेमाल किया जा सकता है.



मस्जिदों में भी हो सकता है इस्तेमाल
खंडपीठ ने जारी फतवे में कहा कि सब्जी और गन्ने सहित पेट्रोल एवं कोयले के साथ ही अल्कोहल से निर्मित सैनिटाइजर में भले ही अल्कोहल की मात्रा अधिक हो, इससे मस्जिदों के फर्श को सैनिटाइज किया जा सकता है. मस्जिदों में प्रवेश के दौरान या वजू के बाद इसी सैनिटाइजर से हाथ भी साफ किए जा सकते हैं.

ये भी पढ़ें:

Video: बीमार अधेड़ ने सड़क पर तोड़ा दम तो कूड़ा गाड़ी में डाल कर ले गए शव

मेरठ में घर-घर शुरू हुई COVID-19 के संदिग्धों की खोज, 700 से ज्यादा टीम उतरीं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज