Assembly Banner 2021

सहारनपुर: देवबंद बना सबसे बड़ा कोरोना का हॉटस्पॉट, अब तक 47 में हुई संक्रमण की पुष्टि

देवबंद थाना क्षेत्र में फैला संक्रमण (फाइल फोटो)

देवबंद थाना क्षेत्र में फैला संक्रमण (फाइल फोटो)

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने न्यूज18 से बातचित में बताया कि सहारनपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 86 है और 24 घंटे में जितने कोरोना पॉजिटिव मिले हैं उनमें दो को छोड़कर सभी देवबंद के हैं.

  • Share this:
सहारनपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सहारनपुर (Saharanpur) जिले में कोरोना (Coronavirus) पॉजिटिव मरीजों की संख्या लगातार बढती जा रही है. अकेले देवबंद (Deoband) थाना क्षेत्र में 24 घंटे में 37 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं, जिसके बाद जिला प्रशासन में हड़कंप मच हुआ है. अब तक देवबंद में कुल 47 मरीजों में कोविड-19 की पुष्टि हुई है. जबकि जिले में संक्रमित मरीजों की संख्या 86 हो गई है.

सभी को ट्रैक करने में जुटा प्रशासन

जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने न्यूज18 से बातचित में बताया कि सहारनपुर में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 86 है और 24 घंटे में जितने कोरोना पॉजिटिव मिले हैं उनमें दो को छोड़कर सभी देवबंद के हैं. जब छात्रों के बारे में पूछा गया तो जिलाधिकारी ने कहा कि उनको ट्रैक किया जा रहा है. जल्द ही सबको क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया जाएगा. कोरोना कि बढ़ती संख्या के लिए कहीं ना कहीं तबलीगी जमात के वह लोग शामिल हैं जो दिल्ली के निजामुद्दीन में मरकज से होते हुए देवबंद आए थे.



दारुल उलूम देवबंद के मीडिया प्रभारी अशरफ उस्मानी ने बताया कि हमारे जो बच्चे हैं उन सभी की प्राथमिक जांच सीएमओ द्वारा करवाई गई. सभी बच्चे सेहतमंद पाए गए. एक छात्र जो दारुल उलूम का है, लेकिन प्राइवेट हॉस्टल में रहता है उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. बाकी देवबंद के सभी बच्चे सुरक्षित हैं. साथ ही डब्लूएचओ की गाइडलाइन का पूरा पालन किया जा रहा है.
बता दें तबलीगी जमात के डेढ़ सौ से दो सौ लोग 11 ग्रुप में शामिल होकर मरकज से देवबंद में जमात के लिए आए थे. इनमें एक ग्रुप मुंबई से, एक इंडोनेशिया से और 1 जमात दिल्ली से तो वहीं गुजरात से सात जमाती दिल्ली मरकज होते हुए देवबंद थाना क्षेत्र में आए थे. सबसे बड़ी बात यह है कि ये लोग देवबंद थाना क्षेत्र की अलग-अलग मस्जिदों में ठहरे थे. जो 47 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं उनमें 12 विदेशी हैं और 33 लोग अलग-अलग प्रदेश से हैं. वहीं इनके कांटेक्ट में आने वाले पिता पुत्र भी हैं, जो जमातीयों की सेवा में लगे थे. अब इनके  क्लोज कांटेक्ट में कितने लोग आए इसकी जांच खुफिया विभाग और देवबंद पुलिस लगातार कर रही है. वहीं लगातार ड्रोन कैमरे से आसपास नजर रखी जा रही है.

(भूल सुधार: 'दारुल उलूम देवबंद बना कोरोना का हॉटस्पॉट, अब तक 47 में पुष्टि' शीर्षक में दारुल उलूम का जिक्र गलती से हुआ था. जिसे अब सुधार लिया गया है.)

ये भी पढ़ें:

हॉटस्पॉट बने लखनऊ में Lockdown से नहीं मिलेगी कोई छूट, DM ने जारी किया आदेश

COVID-19: योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, परिवार कल्याण के महानिदेशक को हटाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज