सहारनपुर: मकान खाली कराने आए दरोगा ने बेटी से की बदतमीजी, किराएदार की हार्ट अटैक से मौत

एसएसपी के अनुसार मामले में तहरीर के आधार पर एफआईआर लिखी जा रही है.
एसएसपी के अनुसार मामले में तहरीर के आधार पर एफआईआर लिखी जा रही है.

सहारनपुर (Saharanpur) एसएसपी ने बताया कि किराएदार अनिल उपाध्याय हैं और मकान मालिक केला देवी हैं. अनिल की पत्नी ने आज तहरीर दी है. इसमें इन्होंने बताया कि इनके मकान को खाली कराने के लिए केला देवी एक दरोगा को लाईं. आरोप है कि दरोगा ने अनिल की गैरमौजूदगी में अभद्र आचरण किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 15, 2020, 2:20 PM IST
  • Share this:
सहारनपुर. उत्तर प्रदेश के सहारनपुर (Saharanpur) में पेपर मिल रोड पर मकान खाली कराने को लेकर बुलंदशहर (Bulandshahr) में तैनात यूपी पुलिस (UP Police) के एक दारोगा (Sub Inspector) ने पहले किरायदार की बेटी से अभद्रता की और फिर किराएदार को जेल भेजने की धमकी दे डाली. आरोप है कि इससे आहत पीड़ित को हार्ट अटैक आ गया, जिसने उपचार के दौरान हायर सेंटर में दम तोड़ दिया. शव को लेकर लौटे परिजनों ने जमकर हंगामा किया. इसके बाद सदर बाजार पुलिस ने समझाकर उन्हें शांत कराया. मामले में पीड़ित परिजनों की तहरीर पर एसएसपी ने एफआईआर लिखने के आदेश दे दिए हैं.

बेटी से अभद्रता भी की

थाना सदर बाजार क्षेत्र के पेपर मिल रोड पर हिम्मत नगर कॉलोनी में एक मकान में अनिल उपाध्याय किराये पर रहते हैं. मकान खाली करने को लेकर उनका मकान मालकिन केला देवी के साथ विवाद चल रहा है. बुधवार को मकान मालकिन एक दारोगा नीरज कुमार के साथ मकान पर पहुंची. उसने बताया कि वह बुलंदशहर में तैनात है. दारोगा बावर्दी था जिसका वीडियो भी बनाया गया था. मौके पर तब अनिल नहीं मिले तो दारोगा ने उनकी बेटी से अभद्रता करनी शुरू कर दी. जल्द से जल्द मकान खाली न करने पर जेल भेजने की धमकी दी. दरोगा के इस बर्ताव के बाद अनिल उपाध्याय की तबियत और खराब हो गई. इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उनकी मौत हो गई. परिवार अब न्याय की गुहार लगा रहा है.



एफआईआर लिखकर जांच की जा रही है: एसएसपी
वहीं मामले में एसएसपी ने बताया कि किराएदार अनिल उपाध्याय हैं और मकान मालिक केला देवी हैं. अनिल की पत्नी ने आज तहरीर दी है. इसमें इन्होंने बताया कि इनके मकान को खाली कराने के लिए केला देवी एक दरोगा को लाईं. आरोप है कि दरोगा ने अनिल की गैरमौजूदगी में अभद्र आचरण किया. उसके बाद अनिल को मकान खाली करने के लिए दबाव बनाया. अनिल हार्ट के मरीज थे, उन्हें हार्टअटैक आ गया. अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया, जहां उनकी मौत हो गई. तहरीर के आधार पर एफआईआर लिखकर जांच की जा रही है. साक्ष्य और सत्यता के आधार पर आगे गिरफ्तारी की कार्रवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज