सहारनपुर हिंसा: हाईकोर्ट से तीन युवकों को मिली बड़ी राहत, रासुका रद्द

सोनू और सुधीर पर 7 सितंबर 2017 को रासुका लगाया गया था. राजू पर 8 सितंबर 2017 को आदेश जारी कर रासुका लगाया गया था.

News18Hindi
Updated: September 5, 2018, 9:16 PM IST
सहारनपुर हिंसा: हाईकोर्ट से तीन युवकों को मिली बड़ी राहत, रासुका रद्द
File Photo
News18Hindi
Updated: September 5, 2018, 9:16 PM IST
उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 2017 में भड़की जातीय हिंसा मामले में हाईकोर्ट के जस्टिस बीके नारायण और जस्टिस ए के मिश्रा की खंडपीठ ने आरोपी बनाए गए तीनों युवकों को बड़ी राहत दी है. कोर्ट ने तीनों आरोपियों के खिलाफ दिए गए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के आदेश को रद्द कर दिया है.

कोर्ट ने आदेश दिया है कि युवकों पर अगर कोई अन्य गंभीर आपराधिक मामला दर्ज नहीं हो तो उन्हें रिहा किया जाए. इस मामले में कोर्ट में तीनों युवकों ने संयुक्त याचिका दाखिल की थी. सहारनपुर के सोमपाल उर्फ सोनू, विलास उर्फ राजू और सुधीर को आरोपी बनाया गया था. सोनू और सुधीर पर 7 सितंबर 2017 को रासुका लगाया गया था. राजू पर 8 सितंबर 2017 को आदेश जारी कर रासुका लगाया गया था.

बता दें, महाराणा प्रताप जयंती के आयोजन के दौरान शब्बीरपुर गांव में SC/ST समुदाय और राजपूत समुदाय के बीच जारी संघर्ष देखते-देखते गंभीर मुद्दे में तब्दील हो गया. दोनों पक्षों के लोगों पर रासुका के तहत कार्रवाई की गई थी.

ये भी पढ़ें-

नोएडा के बालिका गृह से बरामद हुई महंगी घड़ियां, ब्रांडेड कपड़े व शराब की बोतल
बांदा: महिला सिपाही की मौत मामले में नया मोड़, शरीर पर मिले चोट के निशान
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर