लाइव टीवी

BJP नेता धारा सिंह हत्याकांड में ADG ने किया खुलासा, दो सगे भाई गिरफ्तार, ये थी मर्डर की वजह

News18 Uttar Pradesh
Updated: October 22, 2019, 4:02 PM IST
BJP नेता धारा सिंह हत्याकांड में ADG ने किया खुलासा, दो सगे भाई गिरफ्तार, ये थी मर्डर की वजह
BJP नेता धारा सिंह हत्याकांड के बारे में जानकारी देते हुए मेरठ जोन के एडीजी प्रशांत कुमार

भाजपा (BJP) सभासद धारा सिंह हत्याकांड (Dhara Singh Murder case) का खुलासा करते हुए एडीजी ने बताया कि आरोपियों ने धारा सिंह को पहले भी निशाने पर लिया था लेकिन तब किसी वजह से वो हत्याकांड को अंजाम नहीं दे सके थे.

  • Share this:
सहारनपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के सहारनपुर (Saharanpur) जिले के देवबंद (Deoband) में 11 दिन पूर्व हुए भाजपा (BJP) नेता धारा सिंह हत्याकांड (Dhara Singh Murder case) मामले का पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया. 11 दिन पूर्व बाइक सवार बदमाशों ने भाजपा नेता व सभासद (Bjp Councilor) धारा सिंह की गोली मारकर हत्या की थी. इस मामले में खुलासा करते हुए मेरठ (Meerut) जोन के एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि घटना को अंजाम देने वाले दोनों अभियुक्त आपस में सगे भाई हैं. जिन्हें पुलिस ने देवबंद क्षेत्र में साईं मंदिर के पास से गिरफ्तार किया. पुलिस (Police) ने अभियुक्तों के पास से एक पिस्टल, एक अवैध तमंचा व एक बाइक को बरामद किया है.

दरअसल सहारनपुर के देवबंद में 12 अक्टूबर को भाजपा नेता व सभासद धारा सिंह पुत्र भोपाल सिंह निवासी कमला विहार, चीनी मिल पर ड्यूटी के लिए जाने को जैसे ही घर से निकले थे तभी रंखंडी फाटक के पास दो बाइक सवार बदमाशों ने उनकी गोली मारकर हत्या कर दी थी. हत्यारे मौके से फरार हो गए थे. भाजपा नेता की हुई हत्या ने क्षेत्र में सनसनी फैला दी थी और घटना के खुलासे को लेकर लगातार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अपनी टीम के साथ देवबंद में कैंप कर रहे थे.

धारा सिंह, उनके ठेके निरस्त कराकर खुद ले लेता था
घटना का खुलासा करते हुए एडीजी मेरठ जोन प्रशांत कुमार ने बताया कि सहारनपुर पुलिस ने घटना को अंजाम देने वाले दोनों अभियुक्तों कंवरपाल व रविंद्र पुत्र सत्यपाल निवासी ग्राम मथुरा थाना चरथावल जनपद मुजफ्फरनगर को देवबंद क्षेत्र में साईं धाम के पास से गिरफ्तार कर लिया है. ये दोनों सगे भाई हैं. पूछताछ में हत्याकांड के बार में हत्यारोपियों ने बताया कि मृतक धारा सिंह चीनी मिल में गन्ने की ढुलाई का ठेका लेता था और वह दोनों भाई भी गन्ने की ढुलाई का ठेका लेते थे. वर्ष 2016 में उनके गांव मथुरा में गन्ने की ढुलाई का ठेका दोनों भाइयों ने लिया था लेकिन बाद में धारा सिंह ने उनके ठेके को निरस्त कराकर स्वयं उस ठेके को अपने नाम करा लिया था. जिस कारण उन्हें व्यवसाय में काफी आर्थिक नुकसान हुआ था. हालांकि इसके बाद भी कई ठेके उन्होंने अपने नाम कराए लेकिन धारा सिंह ने हर बार उनके ठेके निरस्त कराकर खुद ले लिए थे और उन्हें गन्ने की ढुलाई का काम नहीं करने दे रहा था. जिससे वह मानसिक रूप से काफी परेशान थे. जिस कारण उन्होंने यह कदम उठाया और धारा सिंह की हत्या कर दी.

पहले भी भाजपा नेता को निशाने पर लिया था
हत्या आरोपियों ने इस बात का भी खुलासा किया कि एक बार पहले भी उन्होंने धारा सिंह को निशाने पर लिया था लेकिन मौका नहीं मिलने के चलते उन्हें वापस आना पड़ा और कहीं ना कहीं यह भी कहा जा सकता है कि वेस्ट यूपी में शुगर मिल से छूटने वाले ठेके के लिए वर्चस्व की लड़ाई कहीं ना कहीं चलती रहती है और यही वर्चस्व की लड़ाई धारा सिंह की हत्या का कारण बना. एडीजी ने गिरफ्तार करने वाली टीम को इनाम देने की घोषणा की है.

(रिपोर्टर- देवेश त्यागी)
Loading...

ये भी पढ़ें-

कमलेश तिवारी हत्याकांड: SIT ने शाहजहांपुर में मारे छापे, होटल के कमरे से मिला था खून लगा कुर्ता

कमलेश तिवारी हत्याकांड: ATS ने जारी की दोनों आरोपियों की तस्वीर

बिहार उपचुनाव: घर में रखा था पिता का शव, पोलिंग बूथ पर आकर बेटे ने डाला वोट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सहारनपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 22, 2019, 4:02 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...