Home /News /uttar-pradesh /

Saharanpur Assembly Seat: सहारनपुर में आखिर बीजेपी का टारगेट क्यों है यह सीट, कांग्रेस के लिए भी है खास

Saharanpur Assembly Seat: सहारनपुर में आखिर बीजेपी का टारगेट क्यों है यह सीट, कांग्रेस के लिए भी है खास

UP Chunav: सहारनपुर में रोचक होगा सियासी मुकाबला.

UP Chunav: सहारनपुर में रोचक होगा सियासी मुकाबला.

Saharanpur Assembly Seat: 2017 के विधानसभा चुनाव में यूपी की जिन चंद सीटों पर कांग्रेस का परचम लहराया था, उनमें सहारनपुर विधानसभा सीट भी शामिल है. भाजपा अपने तमाम प्रयासों के बाद भी इस सीट से लगातार तीसरे स्थान पर रहने का रिकॉर्ड बनाती आई है. बदले सियासी माहौल में 2022 के चुनाव में इस सीट का चुनाव भी रोचक होने वाला है.

अधिक पढ़ें ...

सहारनपुर. वुड कार्विंग उद्योग के लिए सहारनपुर पूरे देश में प्रसिद्ध है और इसे ‘वुड सिटी‘ भी कहा जाता है. चुनावी दिनों में भी यह शहर केंद्र में रहता है. सहारनपुर विधानसभा सीट पर लगभग 3 लाख मतदाता हैं, जिनका प्रतिनिधित्व करने के लिए प्रदेश की सत्ताधारी पार्टी भाजपा, कई साल से प्रयास कर रही है. लेकिन ‘मोदी-लहर‘ के बावजूद 2017 के चुनाव में पार्टी को सफलता नहीं मिली. कांग्रेस पार्टी के प्रत्याशी मसूद अख्तर यहां से विधायक बने और दूसरे स्थान पर बहुजन समाज पार्टी रही. भाजपा को तीसरे स्थान पर रहना पड़ा.

सहारनपुर विधानसभा सीट के लिए 2017 में हुए चुनाव में कांग्रेस के मसूद अख्तर ने 87689 मत हासिल किए थे. बसपा के जगपाल सिंह को 75365 और भाजपा प्रत्याशी मनोज चौधरी को 58752 वोट मिले थे. हालांकि मत प्रतिशत की बात करें तो कांग्रेस और भाजपा के बीच बड़ा-गैप नहीं था. कांग्रेस पार्टी 39.63 फीसदी मतों के साथ विजेता बनी थी, वहीं भाजपा के हिस्से में 24.75 प्रतिशत वोट आए थे. इससे पहले 2012 के चुनाव में यहां से बसपा को जीत मिली थी, उस समय पार्टी के हिस्से में लगभग 40 फीसदी मत पड़े थे.

2012 के चुनाव में सहारनपुर सीट से बहुजन समाजवादी पार्टी के जगपाल सिंह ने 80670 मतों के साथ बाजी मारी थी. उन्होंने कांग्रेस के वाहिद अली को मात दी थी, जिन्हें 63557 वोट मिले थे. वहीं भाजपा उम्मीदवार विक्रम सिंह को केवल 10739 मत प्राप्त हुए थे.

चुनावी इतिहास पर एक नज़र

  • 1957 मंजुरुल नबी कांग्रेस
  • 1962 ब्रह्म दत्त मेयर निर्लदीय
  • 1967  ए खलीक कांग्रेस
  • 1969 जगन्नाथ खन्ना  भारतीय जन संघ
  • 1974  एस कुलतार सिंह कांग्रेस
  • 1977 समर चंद जनता पार्टी
  • 1980 सुरेंद्र कपिल जनता पार्टी सेक्युलर
  • 1985 सुरेंद्र कपिल कांग्रेस
  • 1989 वीरेंद्र सिंह जनता दल
  • 1991 लाल कृष्ण गांधी भारतीय जनता पार्टी
  • 1993 लाल कृष्ण गांधी भारतीय जनता पार्टी
  • 1996 संजय गर्ग समाजवादी पार्टी
  • 2002 संजय गर्ग जनता पार्टी
  • 2007 राघव लखनपाल बीजेपी
  • 2012 जगपाल बीएसपी
  • 2017 मसूद अख्तर कांग्रेस

Tags: Saharanpur news, UP Assembly Election 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर