ईद-उल-अजहा पर बिजनौर के इस गांव में लोगों ने नहीं पढ़ी नमाज, कुर्बानी पर रोक का आरोप

चांदपुर सीओ ने बताया कि कुर्बानी पर कोई रोक नहीं है. जिला प्रशासन द्वारा कोई भी नई परम्परा शुरू करने के आदेश नहीं दिये जायेंगे. हल्के तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए क्षेत्र में पीएसी और अन्य पुलिस बल सहित फोर्स को तैनात किया गया है.

SHAKEEL AHMED | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 22, 2018, 2:38 PM IST
ईद-उल-अजहा पर बिजनौर के इस गांव में लोगों ने नहीं पढ़ी नमाज, कुर्बानी पर रोक का आरोप
नमाज न पढ़कर और कुर्बानी न देकर अपना विरोध जता रहे लोग. Photo: News 18
SHAKEEL AHMED | News18 Uttar Pradesh
Updated: August 22, 2018, 2:38 PM IST
उत्तर प्रदेश में बिजनौर के शिवालाकला थाना क्षेत्र में बकरीद के मौके पर आज बड़े जानवर की कुर्बानी पर लगी रोक को लेकर मुस्लिम समुदाय के लोगों ने अपना विरोध जताया. उन्होंने मस्जिद में न जाकर और ईद की नमाज़ न पढ़कर अपना विरोध जताया. लोगों ने जिला प्रशासन को दूसरे पक्ष के लोगों के साथ हमसाज़ होने का आरोप लगाया. वहीं पुलिस का कहना है कि कुर्बानी पर रोक नहीं है, बस जिला प्रशासन से किसी भी नई परंपरा के शुरू करने की अनुमति नहीं है.

उधर लोगों का उनका आरोप है कि दूसरे पक्ष के लोगों ने बड़े जानवरों की कुर्बानी पर रोक लगा दी. पुलिस भी उनका साथ नहीं दे रही है. स्थिति को तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए जिला प्रशासन और पुलिस के अधिकारी ने क्षेत्र में भारी फोर्स को तैनात किया है.

कुर्बानी को लेकर क्षेत्र में दो पक्षो में मामला गरमाया हुआ है. मामला बढ़ा तो मंगलवार देर शाम दोनो पक्ष के लोग थाने पहुंच गये और थाने में हंगामा करने लगे. मौके पर पहुँचे अधिकारियों ने दोनों पक्षो के लोगो को समझाने की कोशिश की लेकिन कोई हल नहीं निकला. अनवर सहित अन्य लोगों का कहना है कि पिछले 50 सालों से बकरीद के मौके पर यहां का मुस्लिम बड़े और छोटे दोनों तरह के जानवरों की कुर्बानी देता आ रहे हैं. कुर्बानी को लेकर हमारे समाज के लोगों ने आज ईद के मौके पर नमाज न पढ़कर और कुर्बानी न देकर अपना विरोध जता रहा है.

उधर मामले में चांदपुर सीओ ने बताया कि कुर्बानी पर कोई रोक नहीं है. जिला प्रशासन द्वारा कोई भी नई परम्परा शुरू करने के आदेश नहीं दिये जायेंगे. हल्के तनावपूर्ण माहौल को देखते हुए क्षेत्र में पीएसी और अन्य पुलिस बल सहित फोर्स को तैनात किया गया है. उन्होंने कहा कि माहौल शांत है, फिलहाल गांव में शांति व्यवस्था बनी हुई है.

ये भी पढ़ें: 

2019 की यूपी बोर्ड परीक्षा में 10 लाख कम हुए हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट के परीक्षार्थी

नवजोत सिंह सिद्दू के पाक दौरे पर बोले आजम खान- गलत थे तो वीजा ही नहीं​ मिलना चाहिए था
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर